अर्नब को ट्रोल करना कितना सही? Arnab Goswami and Trolls, Lutian Journalists, PM Interview, Hindi Article, Mithilesh



जबसे टाइम्स नाउ के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी ने प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी का एक्सक्लूसिव-इंटरव्यू लिया है, तबसे पत्रकारों और मीडिया-समूहों (Journalists and Media Groups) के एक खास वर्ग के साथ-साथ मोदी विरोधियों ने अर्नब को निशाने पर ले लिया है. सच कहूं तो पिछले कुछ सालों से मीडिया से जुड़ने के बाद यह महसूस किया है कि इस समूह में कार्य करने वाले लोग दुनिया के सर्वाधिक ज्वलनशील लोगों में से हैं. कांग्रेस तो चलो आरोप लगा रही है कि 'प्रधानमंत्री को प्रेस-कांफ्रेंस' करनी चाहिए थी (ताकि, किसी भी मुद्दे पर बात कम होती और हंगामा-होहल्ला जयदा होता!), किन्तु मीडिया के लोग आखिर किस बात पर नाराज हैं? वह भी अपने ही कूलिंग अर्नब से? सच कहें तो एक अंग्रेजी-चैनल (English News Channels) होने के बावजूद जिस प्रकार अर्नब ने उसे हिंदी-चैनलों की बराबरी में ला खड़ा किया है, वह वाकई काबिल-ए-तारीफ़ है. जितने भी मुख्य धारा के हिंदी चैनल (Hindi Channels) हैं, उन्हें इस बात पर शर्म आनी चाहिए कि आखिर वह क्या दिखलाते हैं कि भारत के प्रधानमंत्री, उनकी बजाय एक अंग्रेजी चैनल को इंटरव्यू देते हैं. दिलचस्प बात है कि उनका इंटरव्यू भी पूरा हिंदी में ही था. ऐसे में, कहाँ तक पत्रकार-जगत नसीहत लेता इस युवक से, लुटियन दिल्ली के पत्रकार (Arnab Goswami and Trolls) उनके खिलाफ अनर्गल प्रलाप करने में जुट गए. आखिर, एनएसजी, चीन, पाकिस्तान, रघुराम राजन, सुब्रमण्यम स्वामी, महंगाई, ध्रुवीकरण पॉलिटिक्स, उत्तर प्रदेश चुनाव, संसद-गतिरोध, बेरोजगारी, जीएसटी, कालाधन जैसे मुद्दे इस इंटरव्यू में शामिल तो थे!

इसे भी पढ़ें: आतंक पर 'इस्लाम' के अनुयायी चुप क्यों?

Arnab Goswami and Trolls, Lutian Journalists, PM Interview, Hindi Article, Mithilesh

कई पत्रकार इस बाबत यह प्रतिक्रिया व्यक्त करने नज़र आये कि अर्नब, प्रधानमंत्री के प्रति नरम थे! अरे भाई, अगर कोई विनम्र होकर सवाल पूछ ले रहा है तो इसमें बुराई क्या है? नरेंद्र मोदी अब चुनाव-प्रचार कर रहे नेता नहीं हैं, बल्कि वह देश के प्रधानमंत्री (Prime Minister of India Interview) हैं और अर्नब गोस्वामी क्या इतने मूर्ख हैं कि प्रधानमंत्री से तू-तड़ाक और बदतमीजी से सवाल करते! यह प्रोटोकॉल और बिजनेस-सेन्स से (Arnab Goswami and Trolls) पैदल व्यक्ति ही कर सकता है. वास्तव में इस साक्षात्कार को इतने विस्तृत ढंग से कवर किया गया था कि अगले दिन यह समस्त राष्ट्रीय मीडिया की 'हेडलाइन' बन गयी. प्रिंट मीडिया हो, टेलिविजन मीडिया या फिर डिजिटल मीडिया, सबने इसे फॉलो किया और बावजूद इसके अर्नब की आलोचना समझ से परे है. इस इंटरव्यू के प्रसारित होने के अगले दिन चीन की सरकार इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी और फिर पाकिस्तान सरकार ने पाक में दो शक्तिकेंद्र होने की बात पर सफाई दी. एक आंकड़े के अनुसार, ट्विटर पर इस इंटरव्यू को लेकर 1.4 बिलियन ट्वीट हुए तो, लगभग एक मिलियन से ज्यादा लोगों ने इंटरव्यू देखा और फेसबुक यूजर्स करीब 10.2 मिलियन बार इसे लेकर चर्चा कर चुके हैं. ट्विटर पर तो 8 घंटे तक ये हैशटैग ट्रेंड करता रहा था और इस क्रम में दुनिया भर की मीडिया में यह इंटरव्यू सुर्खियां बना. 

इसे भी पढ़ें: पीएम के टीवी 'साक्षात्कार' से मिला स्पष्ट सन्देश!

क्या वाकई, इतने सबके बावजूद अर्नब गोस्वामी बधाई के पात्र नहीं हैं और अगर इस पर भी उन्हें बधाई नहीं दे रहे उनके प्रतिद्वंदी तो कम से कम इस बात के लिए उन्हें बधाई तो जरूर दें कि उन्होंने पीएम का इंटरव्यू लेने का रास्ता खोल दिया है. अब जाए कोई भी और पीएम को इंटरव्यू, प्रेस-कांफ्रेंस (Press Confrences) के लिए मना ले. अब ऐसे पत्रकारों के खोखले-ईगो का तो कोई इलाज नहीं है न कि वह नरेंद्र मोदी को अभी भी प्रधानमंत्री नहीं मान रहे हों और उन्हें उसे चश्मे से देख रहे हैं, जैसे वह 2014 के आम चुनाव से पहले देखा करते थे. अरे भाई, जाग जाओ ... 2 साल निकल चुके हैं और तुम अभी सोये ही हो!

- मिथिलेश कुमार सिंहनई दिल्ली.



यदि लेख पसंद आया तो 'Follow & Like' please...





ऑनलाइन खरीददारी से पहले किसी भी सामान की 'तुलना' जरूर करें 
(Type & Search any product) ...


Arnab Goswami and Trolls, Lutian Journalists, PM Interview, Hindi Article, Mithilesh, editorial, journalism, hindi writing, times now channel, media groups, hindi channels, english channels, patrakar, lekhan, lekh.

Breaking news hindi articles, latest news articles in hindi, Indian Politics, articles for magazines and Newspapers, Hindi Lekh, Hire a Hindi Writer, content writer in Hindi, Hindi Lekhak Patrakar, How to write a Hindi Article, top article website, best hindi articles blog, Indian Hindi blogger, Hindi website, technical hindi writer, Hindi author, Top Blog in India, Hindi news portal articles, publish hindi article free

मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें...
(
More than 1000 Hindi Articles !!)

No comments

Powered by Blogger.