जितनी जल्दी हो सके इनकम टैक्स (Income Tax Return) भरना शुरू कर देना चाहिए!

हमारा YouTube चैनल सब्सक्राइब करें और करेंट अफेयर्स, हिस्ट्री, कल्चर, मिथॉलजी की नयी वीडियोज देखें.

जी हां अगर आप ने कमाई करनी शुरू कर दी है तो इनकम टैक्स भरने में लापरवाही ना कीजिए. अगर आप इनकम टैक्स दायरे से थोड़ा बहुत पीछे भी हैं तो भी आपको इनकम टैक्स भरना शुरू कर देना चाहिए क्योंकि इसके पीछे ना केवल देश की अर्थव्यवस्था को फायदा है, बल्कि आपको भी इससे काफी सहूलियत मिल सकती है. आइए जानते हैं क्यों आपको जल्दी टैक्स भरना शुरू करना चाहिए?
जब भी आप कहीं से पेमेंट रिसीव करते हैं तो एक अमाउंट से ज्यादा होने पर आपका टीडीएस कटता है. अगर आप टैक्स के दायरे में नहीं भी आते हैं और आइटीआर फाइल नहीं करते हैं तो आपकी यह पेमेंट गवर्नमेंट के खाते में जमा रह जाती है और आप इसे 'रिफंड क्लेम' नहीं कर सकते हैं. 
इसलिए अगर आप अपने टीडीएस का रिफंड चाहते हैं तो उसे क्लेम करने के लिए आपको आइटीआर भरना शुरू कर देना चाहिए.

Start filing Income Tax Return as soon as possible


इसके अतिरिक्त कई बार ऐसा भी होता है कि आप इनकम टैक्स के दायरे में हों लेकिन आप अंदाजा लगाते हैं कि अभी आपको इनकम टैक्स नहीं देना चाहिए, क्योंकि आप टैक्स लिमिट के अन्दर ही हैं. ऐसी स्थिति में कई बार पेनाल्टी तक भरने की नौबत आ जाती है तो जल्दी आईटीआर भरने की शुरुआत कर इस स्थिति से बचा जा सकता है.
इसी प्रकार अगर पहली बार रिटर्न भरने में कोई विशेष समस्या आती है तो इसे 'रिवाइज रिटर्न' से दूर किया जा सकता है.

इससे लोन मिलने के लिए मजबूत बैकग्राउंड तैयार होता है. जी हाँ! अगर आप किसी भी तरह का लोन लेना चाहते हैं तो आपके आइटीआर की कॉपी पहले मांगी जाती है. वह चाहे होम लोन हो, चाहे कार लोन हो, या फिर किसी दूसरी तरह का ही लोन क्यों न हो, अगर आपका आइटीआर, बैलेंस शीट इत्यादि कागजी कार्रवाई ठीक है, तो आप को लोन मिल जाता है.

इसके अतिरिक्त आइटीआर का ऐड्रेस प्रूफ के लिए भी इस्तेमाल होता है और जब आप जॉब के लिए अप्लाई करते हैं, तो आइटीआर से कई देशों का वीजा मिलने में भी काफी आसानी होती है.

Web Title: Start filing income tax return as soon as possible!

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें... Use Any Keyword for More than 1000 Hindi Articles !!)

Disclaimer: इस पोर्टल / ब्लॉग में मिथिलेश के अपने निजी विचार हैं, जिन्हें तथ्यात्मक ढंग से व्यक्त किया गया है. इसके लिए विभिन्न स्थानों पर होने वाली चर्चा, समाज से प्राप्त अनुभव, प्रिंट मीडिया, इन्टरनेट पर उपलब्ध कंटेंट, तस्वीरों की सहायता ली गयी है. यदि कहीं त्रुटि रह गयी हो, कुछ आपत्तिजनक हो, कॉपीराइट का उल्लंघन हो तो हमें लिखित रूप में सूचित करें, ताकि तथ्यों पर संशोधन हेतु पुनर्विचार किया जा सके. मिथिलेश के प्रत्येक लेख के नीचे 'कमेंट बॉक्स' में आपके द्वारा दी गयी 'प्रतिक्रिया' लेखों की क्वालिटी और बेहतर बनाएगी, ऐसा हमें विश्वास है.
इस लेख से जुड़े सर्वाधिकार इस वेबसाइट के संचालक मिथिलेश के पास सुरक्षित हैं. इस लेख के किसी भी हिस्से को लिखित पूर्वानुमति के बिना प्रकाशित नहीं किया जा सकता. इस लेख या उसके किसी हिस्से को उद्धृत किए जाने पर लेख का लिंक और वेबसाइट का पूरा सन्दर्भ (www.mithilesh2020.com) अवश्य दिया जाए, अन्यथा कड़ी कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.

No comments

Powered by Blogger.