न्यूज पोर्टल बनाने भर से ही नहीं, उसे ठीक ढंग से, रेगुलर अपडेट करते रहने से मिलेगी सफलता

भारत भर से न्यूज़ पोर्टल बनाए जाने की इंक्वायरीज, प्रश्न (News Portal Enquiries, Questions) मेरे पास नियमित तौर पर आते हैं.

बेहतर डिजाइन के साथ रिलाएबल टेक्नोलॉजी (News Portal Design and Technologies) पर उन लोगों का न्यूज़ पोर्टल मैं बना देता हूं और टेक्निकली उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत न हो, इसका बखूबी ध्यान भी रखता हूं (Best News Portal Support 24x7). बड़े जोश-ओ-खरोश के साथ लोग न्यूज़ पोर्टल अपडेट करना शुरू भी करते हैं और उनमें से कई तो विज्ञापन लाकर अपनी बिजनेस की रफ्तार मेंटेन भी कर लेते हैं, पर मुश्किल उन लोगों के साथ आती है जो एक बेहतर न्यूज़ पोर्टल बनाने के बाद भी उसे मेंटेन नहीं कर पाते, उसे रेगुलर अपडेट (How to update your News Portal Regularly) नहीं कर पाते!
इसके पीछे कई व्यावहारिक वजहें होती हैं!
कई लोग इस बात की शिकायत करते हैं कि उन्हें खुद इसके लिए समय नहीं मिलता, क्योंकि वह मार्केट में बिजी रहते हैं.

Update Your News Portal Regularly, Hindi Article (Pic: hostbaby)

इसी प्रकार कुछ लोग अपने पास स्टाफ रखते हैं तो भी कई समस्याएं आती हैं क्योंकि स्टाफ की ज्यादा सैलरी होने के बावजूद न्यूज़ अपडेट करने में कई गलतियां सामान्य बात होती हैं, तो छुट्टी के दिन उनकी उपलब्धता सुनिश्चित नहीं हो पाती है. इसके अलावा उनके साथ खुद बहुत ज्यादा माथापच्ची करनी होती है!
वैसे भी HR Department को मैनेज करना इतना आसान तो होता नहीं है!
(Common issues in News Portal Update Services)

हमारा YouTube चैनल सब्सक्राइब करें और करेंट अफेयर्स, हिस्ट्री, कल्चर, मिथॉलजी की नयी वीडियोज देखें.

इतना ही नहीं, कुछ लोगों ने यहां तक बताया कि उनका पोर्टल कुछ समय तक तो अपडेट ठीक ढंग से ही हो रहा था, लेकिन कुछ महीने बाद उनके एम्पलाई छोड़कर दूसरी जगह चले गए और उन्हें पुनः समूची प्रक्रिया शुरू से शुरू करनी पड़ी.
चूंकि अधिकांश ऐसी कंपनियां छोटे स्तर की होती हैं, इसलिए वह अपने पास कई स्टाफ और प्रॉपर एचआर डिपार्टमेंट का सेटअप नहीं रख सकतीं!!

ऐसे में मैं मजबूर हो गया कि इन लोगों के लिए कोई सस्ता, बेहतर और टिकाऊ सलूशन लेकर आऊँ. (Best solution for News website update, News Publishing regularly)

आखिर, न्यूज पोर्टल से जुड़ी तमाम समस्याओं का हल देने का मैं दावा करता हूँ तो आखिर मेरे द्वारा या किसी और के द्वारा भी बनाए गए तमाम न्यूज पोर्टल्स क्यों बंद हों भला?

चूंकि ऐसे लोगों की संख्या काफी ज्यादा थी, तो मन में यह भी अफसोस हो रहा था कि इनके द्वारा लगाया जाने वाला शुरूआती पैसा व्यर्थ जा रहा है. 

Update Your News Portal with Experts (Pic: ZMU Digital)

यही सोचकर हमने न्यूज़ वेबसाइट अपडेशन सर्विस शुरू की जिसके बेहतर परिणाम आने शुरू हो गए हैं. 
इस समय कई पोर्टल्स हैं, जिनको हम वाइट लेबल सर्विसेज दे रहे हैं. व्हाइट लेबल का मतलब हम उनके स्टाफ की तरह ही वर्चुअली कार्य करते हैं और किसी परमानेंट स्टाफ से बेटर सलूशन उपलब्ध कराते हैं. (White Level Services for News Portal Update, Maintenance)

न केवल नेशनल, इंटरनेशनल, पॉलीटिकल, क्राइम इत्यादि की बड़ी न्यूज़ हम उनकी वेबसाइट पर कवर करते हैं बल्कि लोकल न्यूज़ भी वेबसाइट पर कैसे अपडेट हो, इसका प्रॉपर सिस्टम हमने डिवेलप कर लिया है. 

हमसे किसी नए स्टार्टअप को क्यों न्यूज़ पोर्टल सर्विस अपडेट कर आनी चाहिए और क्या सुविधाएं हम दे रहे हैं, यह नीचे देखें और कोई संशय, प्रश्न होने पर हमें अवश्य कॉल करें: 9990089080

उम्मीद करते हैं कि हमारे साथ जुड़कर आपका ब्रांड रेगुलर तौर पर मेंटेन होगा और जब रेगुलर कोई चीज चलती है तभी उसकी कमाई करने की उम्मीद भी जगती है और अंततः आप सफलता की राह पर आगे बढ़ते जाते हैं:

Description
With US
With Your NEW TEAM.
Daily Normal Update
Yes
Yes
Experienced Team From Day 1
Yes
No
Low Costing
Yes
No
Work on Holidays
Yes
No
99.9% Error Free Work
Yes
No
Expertise in Website Technology, SEO Optimized Update, Social Media Update with lesser efforts
Yes
No
Team Backup in case the person get sick
Yes
No
Video Update
Yes
Yes
Experts Opinion
Yes
No
Whatsapp Connectivity
Yes
Yes
Mail Connectivity
Yes
Yes
Quality Assurance
Yes
No
Copy Paste (Plagiarism) Free content
Yes
No














- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें... Use Any Keyword for More than 1000 Hindi Articles !!)
Web Title: Update Your News Portal Regularly, Hindi Article

Disclaimer: इस पोर्टल / ब्लॉग में मिथिलेश के अपने निजी विचार हैं, जिन्हें तथ्यात्मक ढंग से व्यक्त किया गया है. इसके लिए विभिन्न स्थानों पर होने वाली चर्चा, समाज से प्राप्त अनुभव, प्रिंट मीडिया, इन्टरनेट पर उपलब्ध कंटेंट, तस्वीरों की सहायता ली गयी है. यदि कहीं त्रुटि रह गयी हो, कुछ आपत्तिजनक हो, कॉपीराइट का उल्लंघन हो तो हमें लिखित रूप में सूचित करें, ताकि तथ्यों पर संशोधन हेतु पुनर्विचार किया जा सके. मिथिलेश के प्रत्येक लेख के नीचे 'कमेंट बॉक्स' में आपके द्वारा दी गयी 'प्रतिक्रिया' लेखों की क्वालिटी और बेहतर बनाएगी, ऐसा हमें विश्वास है.
इस लेख से जुड़े सर्वाधिकार इस वेबसाइट के संचालक मिथिलेश के पास सुरक्षित हैं. इस लेख के किसी भी हिस्से को लिखित पूर्वानुमति के बिना प्रकाशित नहीं किया जा सकता. इस लेख या उसके किसी हिस्से को उद्धृत किए जाने पर लेख का लिंक और वेबसाइट का पूरा सन्दर्भ (www.mithilesh2020.com) अवश्य दिया जाए, अन्यथा कड़ी कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.

No comments

Powered by Blogger.