शांतिदूत.नेट: लोकप्रियता की राह पर है हिंदी न्यूज पोर्टल! Hindi News Portal, Shantidoot.net, Responsive Website!



अगर कंटेंट की समझ आप में है और आप घर बैठे, बेहद कम खर्चे में अपना पोर्टल चलाना चाहें तो इसका सटीक उदाहरण आपको शांतिदूत.नेट (Shantidoot.net) के रूप में अवश्य देखना चाहिए. मिथिलेश द्वारा कस्टमाइज किये गए इस हिंदी न्यूज पोर्टल में बेहद उपयोगी फीचर्स हैं, जो तकनीकी रूप से इसे वर्ल्ड-क्लास वेबसाइट की श्रेणी में सहज ही खड़ा करते हैं. आइये देखते हैं, इस हिंदी न्यूज पोर्टल में क्या फीचर्स हैं:

रेस्पोंसिव वेबसाइट (Responsive Website Makers): जी हाँ, बदलते ज़माने के लिहाज से आप सिर्फ कंप्यूटर के ऊपर सर्फिंग के बारे में नहीं सोच सकते हैं. बल्कि, तमाम शोधों में यह बात साफ़ तौर पर सामने आ चुकी है कि अब कंप्यूटर से कहीं ज्यादा एन्ड-यूजर मोबाइल या स्मार्टफोन्स (Hindi News Portal, Shantidoot.net, Responsive Website, Smartphone Visibility) पर हैं. पहले बड़ी कंपनियां अपने लिए दो वेबसाइट वेबसाइट बनाती एवं अपडेट करती थीं, किन्तु अब एक रेस्पोंसिव वेबसाइट ही हर प्रकार की डिवाइस के लिए उपयुक्त होता है. शांतिदूत.नेट इस मामले में सौ फीसदी खरा उतरता है. 

शेयरिंग फीचर्स (Content Sharing Features): सोशल मीडिया का ज़माना है और अगर आपका कंटेंट किसी रीडर/ व्यूअर को अच्छा लगता है तो उसे तुरंत शेयर करने का ऑप्शन मिलना चाहिए. मोबाइल में अगर ऐसी फैसिलिटी रहती है तो कई रिसर्च में यह बात सामने आ चुकी है कि व्हाट्सएप्प (Hindi News Portal, Shantidoot.net, Responsive Website, Share on Whatsapp) से बढ़िया ट्रैफिक आपको मिल जाता है. शांतिदूत.नेट में आपको सभी पॉपुलर सोशल मीडिया ऑप्शन दिख जायेंगे, जिस पर तमाम यूजर्स सम्बंधित आर्टिकल्स शेयर कर सकते हैं.

सर्च ऑप्शन एवं रिलेटेड पोस्ट (Content Engagement Methods): लेख या न्यूज को पढ़ते हुए जब कोई यूजर नीचे तक आता है, तो उस पर्टिक्युलर कटगरी में उसकी रुचि बढ़ जाती है. जैसे अगर समाजवादी पार्टी के बारे में आप एक खबर पढ़ रहे हैं और वह खबर समाप्त (Hindi News Portal, Shantidoot.net, Responsive Website, Related posts, Search Options) होने के बाद आपको नीचे पॉलिटिक्स की दो-तीन खबरें और दिख जाएँ तो बहुत संभव होता है कि यूजर उसे भी क्लिक करे. यदि रिलेटेड पोस्ट्स में वह ऑप्शन नहीं दिखता है तो फिर यूजर सर्च-ऑप्शन की ओर जाता है. शांतिदूत.नेट इन दोनों फीचर्स से लैस है. 

अन्य फीचर्स (Hindi News Portal Top Features): यूं तो हर एक फीचर के बारे में कई-कई पैराग्राफ लिखे जा सकते हैं, किन्तु न तो इसका कोई औचित्य है और न ही इतना पढ़ें का लोगों के पास समय है. वैसे भी शांतिदूत.नेट में जो अन्य फीचर्स हैं उनका नाम ही उसके फीचर्स को बताने के लिए पर्याप्त हैं, जैसे: फोटो गैलरी (Photo Gallery), विडियो ऑप्शंस (Video Embedding), न्यूज सब्सक्रिप्शन (Subscribe Options), पोल क्रिएट ऑप्शन (Poll Creating), कमेंट सिस्टम (Comment System), लैंग्वेज ट्रांसलेशन (Translation features) इत्यादि. इससे भी बड़ी बात कि इन सभी फीचर्स को अपडेट करना बेहद आसान! साधारण और सटीक 'एडमिन पैनल' की सहायता से!

जाहिर तौर पर अगर आप भी अपना न्यूज पोर्टल बनवाना चाहते हैं, तो इन सब फीचर्स का ध्यान रखना आवश्यक हो जाता है. साथ ही साथ पोर्टल का बैकअप, सिक्योरिटी (Backup and Security of News Portal) देखा जाना उससे भी आवश्यक कार्य है. किसी अन्य सलाह के लिए मिथिलेश को मेल: mithilesh2020@gmail.com या कॉल: 9990089080 कर सकते हैं.

हमारे द्वारा बनाये गए अन्य न्यूज-पोर्टल्स का लिंक निम्न है, जिसमें भिन्न तरह की आकर्षक डिजाईन के साथ वर्ल्ड-क्लास फीचर्स भी मौजूद हैं.:
http://www.indianewslive.net/ 

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




ऑनलाइन खरीददारी से पहले किसी भी सामान की 'तुलना' जरूर करें 
(Type & Search any product) ...

Hindi News Portal, Shantidoot.net, Responsive Website, Hindi Websites, how to get best website design, Precaution in web portal, technology, 
मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें...
(
More than 1000 Hindi Articles !!)


loading...

No comments

Powered by Blogger.