वायुसेना सहित सशस्त्र सेनाओं के दामन पर बड़ा दाग! CBI arrests former air chief S P Tyagi, Hindi Article, Analysis, Defence brokers, Agusta westland scam, UPA Government, Political Step, Hindi Editorial



कहते हैं 'लालच' आपके ताउम्र कमाए गए सम्मान को दो पलों में धूमिल कर देता है और यहाँ तो केवल एक व्यक्ति का सम्मान ही नहीं गया है, बल्कि भारतीय वायुसेना जैसी अनुशासित संस्था के दामन पर भी गहरा दाग लग गया है. गौरतलब है कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीद घोटाले में आरोपी पूर्व वायु सेना अध्यक्ष एसपी त्यागी, उनके रिश्ते के भाई संजीव त्यागी उर्फ जूली व वकील गौतम खेतान को 14 दिसंबर तक के लिए सीबीआइ हिरासत में भेज दिया गया है. बताते चलें कि इन सभी पर 3,600 करोड़ रुपये में हेलीकॉप्टरों की खरीद के लिए 423 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने का आरोप है. बेहद दिलचस्प है कि अपने कार्यकाल में सर्वाधिक घोटाले करने का रिकॉर्ड बनाने वाली मनमोहन सरकार इस घोटाले में भी फंसती नज़र आ रही है. पूर्व वायु सेना अध्यक्ष एसपी त्यागी ने वकील के माध्यम से कोर्ट को बताया है कि हेलीकॉप्टर खरीद का निर्णय उन्होंने अकेले नहीं लिया था और इसकी जानकारी तत्कालीन प्रधानमंत्री कार्यालय को भी थी. साफ़ जाहिर है कि अपने बोलने से संसद में भूकंप लाने का दावा करने वाले राहुल गाँधी और कांग्रेस पार्टी में इस पूरे मसले से भूकंप अनुभव किया जा रहा होगा. बहरहाल, नेताओं का क्या है, उनकी सेहत पर बहुत ज्यादा असर किसी बात का पड़ता नहीं है, क्योंकि चिकने घड़े जैसी उनकी फितरत होती है, किन्तु बात यहाँ एयरफोर्स के सम्मान और उसके दर्द की है. CBI arrests former air chief S P Tyagi, Hindi Article, Analysis, Defence brokers, Agusta westland scam, UPA Government, Political Step, Hindi Editorial

CBI arrests former air chief S P Tyagi, Hindi Article, Analysis, Defence brokers, Agusta westland scam, UPA Government, Political Step, Hindi Editorial
प्रतिक्रिया देते हुए वर्तमान एयर चीफ मार्शल अरुप राहा ने पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी की गिरफ्तारी को 'दुर्भाग्यपूर्ण' बताया, तो साफ़ तौर पर यह भी कहा कि इससे वायुसेना की प्रतिष्ठा पर 'दाग' लगा है. समझा जा सकता है कि एक पेशेवर सेना होने के नाते वायुसेना को अपनी प्रतिष्ठा की चिंता होना लाजमी ही है, किन्तु जैसा कि इस पूरे मामले पर वर्तमान वायुसेना प्रमुख ने यह भी कहा कि 'हम कानून के शासन में यकीन करते हैं.' निश्चित रूप से 'भारत के सभी नागरिक कानून के शासन में विश्वास रखते हैं और इस मामले में कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद, जो भी अंतिम फैसला आएगा, सभी को उसे स्वीकार करना ही होगा, पर यह समझना बेहद मुश्किल है कि अपनी जान को अक्सर दांव पर लगाने को तैयार रहने वाले हमारे सैनिक और सैन्य अधिकारी आखिर किन वजहों से भ्रष्टाचार में शामिल होने को मजबूर हो जाते हैं? मानवीय प्रवृत्ति के अतिरिक्त, बाहरी दुनिया से सर्विस-पीरियड में अत्यधिक इंटरेक्शन और प्रक्रियाओं में पारदर्शिता न होने को इसके लिए निश्चित रूप से जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए. इसके अतिरिक्त, दूसरे और इस मामले में भी सामने आये भ्रष्टाचार की जड़ में राजनीतिक हस्तक्षेप कहीं ज्यादा दिखने लगता है. वस्तुतः हथियार दलालों और राजनेताओं का गठजोड़ इतना खतरनाक होता है कि बड़े से बड़े लोग उस चंगुल में फंस ही जाते हैं. CBI arrests former air chief S P Tyagi, Hindi Article, Analysis, Defence brokers, Agusta westland scam, UPA Government, Political Step, Hindi Editorial

CBI arrests former air chief S P Tyagi, Hindi Article, Analysis, Defence brokers, Agusta westland scam, UPA Government, Political Step, Hindi Editorial
इसके लिए 'हनी ट्रेपिंग' से लेकर डराने धमकाने और लालच का बड़ा जाल बिछाया जाता है. सेना में रहे लोगों के सम्बन्धियों को मोहरा बनाया जाता है और फिर मनुष्य तो मनुष्य ही है, कहीं न कहीं इन पचड़ों में फंसकर अपनी पूरी ज़िन्दगी की कमाई को धूल में मिला देता है. हालाँकि, मजबूत व्यक्तित्व इन तमाम बाधाओं को पार कर सकता है, किन्तु जैसा कि इस मामले में दिखा कि एसपी त्यागी जैसे लोगों की ज़रा सी कमजोरी उन्हें सींखचों के पीछे खड़ा करने में ज़रा भी देर नहीं लगाती है. हालाँकि, मामले की जांच अभी जारी है और यह भी निश्चित है कि राजनेताओं का मामला आते ही कुछ न कुछ करके इसे दबा दिया जायेगा. आखिर राहुल गाँधी, सोनिया गाँधी या वरुण गाँधी (पिछले दिनों एक हथियार दलाल के साथ इनका नाम भी उछल था) को गिरफ्तार करना इतना आसान तो है नहीं, इसलिए सीबीआई भी सरकार के निर्देशानुसार दबाव की रणनीति पर ही चलने वाली है. हालाँकि, इटली की अदालत ने पहले ही एसपी त्यागी को इस मामले में दोषी बता दिया था और उन पर गिरफ्तारी की तलवार तो लटक ही रही थी. पर सीबीआई ने जिस समय इस गिरफ्तारी को अंजाम दिया है, उस समय सरकार 'नोटबंदी' के मामलों में संसद से जनता तक में घिरी हुई है. क्या पता, क्या डीलिंग हो, किन्तु इतना तो तय हो ही गया कि जो भी सैनिक या सैन्य अधिकारी राजनेताओं और दलालों के चंगुल में ज़रा सा भी आएगा, उसे बड़ी बुरी तरह इस्तेमाल किया जायेगा. बाद में उन्हें अहसास होगा कि उन्होंने कुछ खाया पिया भी नहीं और बारह आने का गिलास भी तोड़ दिया!

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




ऑनलाइन खरीददारी से पहले किसी भी सामान की 'तुलना' जरूर करें 
(Type & Search any product) ...


CBI arrests former air chief S P Tyagi, Hindi Article, Analysis, Defence brokers, Agusta westland scam, UPA Government, Political Step, Hindi Editorial, SP Tyagi, dent on the image of iaf, augusta westland case, Arup Raha,
मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें...
(
More than 1000 Hindi Articles !!)


loading...
Powered by Blogger.