सोशल ट्रेड बिज़ 'घोटाले' की कहानी, पीड़ित की जुबानी ...

आखिर कैसे होगी 'न्यूज-पोर्टल' से कमाई? देखें वीडियो...


आज 16 अक्टूबर 2016 को जब मैं घर आया तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था. मन ही मन मुस्कुरा रहा था, तो मेरी पत्नी ने पूछा क्या बात है, क्यों इतनी मुस्कुराहट फूट रही है?
मैंने उसकी ओर देखा और एक बार और रहस्यमयी अंदाज़ में मुस्कुरा दिया. पत्नी से रहा नहीं गया, तो उसने ज़िद करने के अंदाज में एक बार फिर पूछा ...
अब बता भी दो, आखिर इतना मुस्कुराने की बात क्या है?
मैंने उसे ज्यादा तड़पाना उचित नहीं समझा और उसे बता ही दिया कि आज एक कंपनी में 57 सौ रुपए इन्वेस्ट करके आया हूं, जिससे रेगुलर इनकम होगी! 
काम भी कुछ नहीं है, सिर्फ सुबह-सुबह 15 मिनट क्लिक करना है और हर महीने पैसे मेरे अकाउंट में आ जाएंगे. इसके साथ अगर अपने नीचे दो लोगों को जोड़ लेता हूँ तो पैसा और भी बढ़ जायेगा.
पत्नी थोड़ी सी कंफ्यूज दिखने लगी, क्योंकि वह भी पढ़ी लिखी हुई है इसलिए मेरी खुशी देकर खुश हो रही थी तो उसके मन में सवाल भी आ रहा था कि कहीं पैसा डूब न जाए!
मैं उसके आशंका-भाव को ताड़ गया और बोला... बहुत बड़ी कंपनी है और इसमें लाखों लोग जुड़े हुए हैं, इसलिए चिंता मत करो. वैसे भी यह कंप्यूटर और वेबसाइट के काम से जुड़ी हुई कंपनी है. और तुम तो जानती ही हो, कंप्यूटर के काम से जुड़ी हुई कंपनियां तो रातों-रात करोड़ों कमा लेती हैं, इसलिए चिंता न करो!
हालाँकि, पत्नी का शक बना रहा, किन्तु मेरी ख़ुशी देखकर उसने कुछ ख़ास कहा नहीं!
मैंने सोचा, जब पैसे आएंगे तो आप ही इसकी शंका दूर हो जाएगी ... इसके बाद मैंने प्लान बनाना शुरू कर दिया कि किसे-किसे अपने नीचे जोड़ूँ!

Social Trade Biz Scam, Story of Victim, Learn to Avoid Cheating (Pic: midnet.org)
मैंने झट से अपने बड़े भाई को फोन लगाया, क्योंकि वह कम्प्यूटर फिल्ड से ही जुड़े हैं. उनसे कहा कि ...
भैया एक बहुत स्पेशल प्लान मेरे पास है और इससे रातों रात पैसा कमाया जा सकता है. भैया पहले तो चुप रहे फिर सशंकित स्वर में बोले कौन सा काम है भाई?
कहीं एक के नीचे 2 जोड़ने वाला काम तो नहीं है? मुझे तो नहीं जोड़ना चाहते हो? मैं जोरों से हंस पड़ा. भैया की हाजिरजवाबी का जवाब नहीं!
कहा, बिल्कुल ठीक समझे भैया ...
एक ऐसी कंपनी का प्लान ज्वाइन किया हूं कि आप सुनेंगे तो दंग रह जाएंगे! वह कुछ सीरियस हो गए और बोले कि
नहीं भाई, मैं इन सब चीजों में भरोसा नहीं रखता हूं. मैं उन्हें समझाने की ज़िद पर आ गया, तो भैया ने टाल दिया कि, मिलेंगे तब देखेंगे फोन पर यह सारी बातें नहीं हो सकती!
हालाँकि, मुझे उनके तेवर से लग गया था कि 'दाल गलेगी नहीं'!

पर मुझे कंपनी के सीनियर्स ने खूब मोटिवेशन भर दिया था, तो मुझे कॉन्फिडेंस था और मैं वीकेंड में जल्दी से उनके पास पहुंच गया और सोशल ट्रेड बिज़ की स्कीम उनको विभिन्न एंगल से समझाने लगा! 

बताया कि स्कीम में ₹57 से लेकर 57 हजार तक इन्वेस्टमेंट का प्लान हैं और 5 रुपए प्रत्येक क्लिक के मिलेंगे ही, अगर आप दो लोगों को नहीं जोडें, तब भी!
मेरे भैया भी पूरे पके हुए था. हालाँकि, प्यार वश वह मेरी बात सुन रहे थे, अन्यथा कोई और रहता तो उसे वह फटकार भी लगा चुके होते. मैं उनको समझा रहा था और वह अपना अनुभव मुझे बता रहे थे कि ...
ऐसी कंपनियां फ्रॉड होती हैं, पैसे लेकर भाग जाएँगी, लेकिन मैंने उनकी बात बिल्कुल नहीं सुनी! मेरे सर पर तो ज्यादा पैसे कमाने का भूत चढ़ा हुआ था और मुझे लगा कि मेरे हाथ कुबेर का खजाना लग गया है. कई जगह फेसबुक के ज्ञानियों की कोटेशन पढता और धड़ाधड़ शेयर भी करता था, जिसके अनुसार 'अच्छे मौके ज़िन्दगी में कभी-कभी' ही आते हैं!

मेरे अनुसार, सोशल ट्रेड बिज़ ही यह अच्छा मौका था! पर भैया के पास दाल नहीं गली तो मैंने अपने मझले भैया को फोन किया और उनको मोटिवेट करना शुरु कर दिया कि इस प्लान में आप जुड़ जाओ पर उन्होंने साफ़ कल्टी मार ली कि 'भैया अगर जुड़ेंगे, तभी मैं जुड़ूंगा'!
उन्होंने पिताजी द्वारा कही गयी बात दुहरायी कि ऐसी स्कीम्स ...
कुत्ते की हड्डी की तरह होते हैं, जिसको चूसने पर मुंह में चोट लगने से खून निकलता है, लेकिन कुत्ते को लगता है कि वह खून हड्डी से निकल रहा है. ऐसे चूसते-चूसते कुत्ता अपना पूरा मुंह घायल कर लेता है!
ऐसी कंपनियों की सीधी योजना यही होती है कि नीचे के लोगों को जोड़ते जाओ, उनसे पैसे लेते जाओ और ऊपर के लोगों में कुछ वितरित करके बाकी मोटी कमाई अपने पास रख लो!
अब तो कंप्यूटर और वेबसाइट के जमाने में यह एक बड़ा आसान सा गेम बन गया है. एक दो महीने तक मैं इसमें जुड़ा रहा और नवम्बर के महीने में मेरे पास पैसे भी आये, कुछ हज़ार रूपये तक! उससे उत्साहित होकर मैंने बड़ा प्लान ले लिया ... और अपने कई मित्रों, सम्बन्धियों को मोटीवेट करके इसमें जैसे-तैसे जोड़ लिया...

मैं खुश था कि 3 फ़रवरी 2017 की सुबह बड़े भैया का मेरे पास फोन आया और उन्होंने बताया कि सोशल ट्रेड बिज़ कंपनी के डायरेक्टर सहित तीन और लोग धोखाधड़ी में गिरफ्तार हो चुके हैं ...पहले तो मुझे यह बात मजाक लगी, किन्तु बड़े भैया ऐसा मजाक तो करते नहीं ... 
Social Trade Biz Scam, Story of Victim, Learn to Avoid Cheating, Company Office
अब मुझे काटो तो खून नहीं ... पहले मैंने उनकी बात को टालना चाहा कि यह झूठी न्यूज़ हो सकती है... वैसे भी, व्हाट्सएप्प, फेसबुक के युग में झूठी खबरें भी खूब फैला करती हैं. जल्दी से मैंने अपने स्मार्टफोन में कुछ न्यूज़ वेबसाइट का लिंक खोला तो उन सबकी पहली खबर यही थी कि नोएडा स्थित सोशल ट्रेड बिज़ नामक कंपनी 7 लाख से अधिक लोगों को चूना लगाकर 3700 करोड़ रुपए का बड़ा घोटाला कर चुकी थी. धीरे-धीरे और भी न्यूज आने लगे कि कैसे उसके मालिक लोगों को बेवकूफ बनाकर, लाइक-क्लिक के नाम पर ठगी करके जुटाए पैसे से सनी लियोनी से लेकर अमीषा पटेल तक के संग पार्टियां कर रहे थे. ...

हालांकि मैं अच्छी जॉब में हूँ और मेरी तनख्वाह भी 8 लाख सालाना से ऊपर है, किसी तरह की कमी नहीं है, लेकिन लालच में मैं किस प्रकार फंस गया, यह मुझे खुद भी समझ नहीं आया!
सबसे दुख की बात तो यह है कि इस कंपनी में सर्वाधिक फंसने वालों की संख्या पढ़े लिखे लोगों की ही है और मेरे जैसे इंजीनियर तो दूसरे उच्च शिक्षित लोग इसमें बेहतर ढंग से धोखा खा चुके हैं.
सभी को यह पता था कि पैसे पेड़ पर नहीं उगते हैं, मुझे भी पता था लेकिन मैं अधिक और बिना मेहनत के पैसे कमाने के लालच में यह बेसिक बात भुला बैठा!

मैं स्वीकार करता हूँ और बाकी के 7 लाख लोगों को भी स्वीकार करना चाहिए कि मेरी तरह वह सब भी पेड़ पर लगे पैसे तोड़ने का प्रयत्न कर रहे थे और फिर अचानक 'पैसे वाला पेड़' एक घोटाले में गायब हो गया!

अब हम सब मिलकर एफआईआर करा रहे हैं, मोदी जी को कोस रहे हैं, किन्तु यह बात बेहद अच्छे से जानते हैं कि यह सब हमारे लालच का ही परिणाम है.

आप ऐसी गलती नहीं कीजिएगा और किसी भी लालच में नहीं फंसियेगा, यह बात मैंने अनुभव से कही है. पैसे कमाने के मामले में मैंने यही सीख पाई है कि सीधे-सादे तौर पर सैलरी मिलती है या व्यापार करने पर कुछ और अधिक आमदनी होती है, कम मेहनती लोगों को उसी से गुजारा करना चाहिए. ...
अगर और ज्यादा पैसे आप कमाना चाहते हैं, और ज्यादा महत्वाकांक्षाएं आपके मन में हैं तो ज्यादा लोगों की समस्याएं हल करें और इस तरह आप ज्यादा पैसे कमाने के सपने देख सकते हैं. लेकिन लोगों को धोखा देकर, लोगों को चीट कर के अगर आप पैसे कमाना चाहते हैं तो ऐसी कंपनियों द्वारा ठगे ही जाएंगे ...
मेरे जैसे ही 7 लाख लोगों की तरह 3 फरवरी 2017 के पूरे दिन इधर उधर भटकने से बेहतर है कि सही रास्ता चुनें और कहीं से भी फ्री पैसे पाने / कमाने के दावे पर भरोसा न करें ...
नहीं तो  ...
नहीं तो ...
सोशल ट्रेड बिज़ आ जायेगा ...
नहीं तो ...
आप के पास करोड़ों डॉलर जीतने वाला कोई इनामी मेल आ जायेगा ...
नहीं तो ...
आप के लिए कोई अमीर व्यक्ति अपनी प्रॉपर्टी छोड़कर मर जायेगा और उस प्रॉपर्टी को लेने के लिए आपको किसी के अकाउंट में कुछ पैसे डालने को कहा जाएगा ...
आप समझ रहे हैं न ... मैं क्या कह रहा हूँ ... जरूर समझ रहे होंगे ... कम से कम मैं तो समझ ही रहा हूँ कि मैं क्या कह रहा हूँ!सच्ची ...

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें... (More than 1000 Hindi Articles !!)

Disclaimer: इस पोर्टल / ब्लॉग में मिथिलेश के अपने निजी विचार हैं, जिन्हें पूरे होश-ओ-हवास में तथ्यात्मक ढंग से व्यक्त किया गया है. इसके लिए विभिन्न स्थानों पर होने वाली चर्चा, समाज से प्राप्त अनुभव, प्रिंट मीडिया, इन्टरनेट पर उपलब्ध कंटेंट, तस्वीरों की सहायता ली गयी है. यदि कहीं त्रुटि रह गयी हो, कुछ आपत्तिजनक हो, कॉपीराइट का उल्लंघन हो तो हमें लिखित रूप में सूचित करें, ताकि तथ्यों पर संशोधन हेतु पुनर्विचार किया जा सके. मिथिलेश के प्रत्येक लेख के नीचे 'कमेंट बॉक्स' में आपके द्वारा दी गयी 'प्रतिक्रिया' लेखों की क्वालिटी और बेहतर बनाएगी, ऐसा हमें विश्वास है.
इस लेख से जुड़े सर्वाधिकार इस वेबसाइट के संचालक मिथिलेश के पास सुरक्षित हैं. इस लेख के किसी भी हिस्से को लिखित पूर्वानुमति के बिना प्रकाशित नहीं किया जा सकता. इस लेख या उसके किसी हिस्से को उद्धृत किए जाने पर लेख का लिंक और वेबसाइट का पूरा सन्दर्भ (www.mithilesh2020.com) अवश्य दिया जाए, अन्यथा कड़ी कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.

No comments

Powered by Blogger.