ऑनलाइन आरटीआई (RTI) किस प्रकार फाइल करें?



सरकारी विभागों से किस को कार्य नहीं पड़ता है?

मुश्किल तो तब हो जाती है जब सूचना के अभाव में लोग कार्य करने से हिचकते हैं और इस वजह से लोग तमाम महत्वपूर्ण कार्य टालते चले जाते हैं. सच कहा जाए तो किसी सरकारी डिपार्टमेंट में कोई 'ख़ास' कार्य किस तरीके से होता है और समय-समय पर क्या कानून बदल चुके होते हैं, किसे कहां जाना चाहिए और किससे मिलना चाहिए, इस बात की जानकारी बहुत सारे लोगों को नहीं होती है.

ऐसे में कई बार वह जाकर सरकारी ऑफिस में अपनी इनफॉरमेशन लेने का प्रयत्न करते हैं किंतु सरकारी डिपार्टमेंट के अधिकारियों तक को भी कई बार निश्चित सूचना नहीं होती है. कदाचित उन्हें खुद को पता ही नहीं होता है और अगर पता होता है तो वह सूचना देने में टालमटोल भी खूब करते हैं. वैसे भी डिजिटल इंडिया के दौर में सरकारी डिपार्टमेंट जाकर पूरा दिन खराब करने का समय आखिर किसके पास होता है?
RTI Filing information in Hindi, Right to Information Act (Pic: newsclick)
शायद इसीलिए आरटीआई (RTI) कानून सबसे ज्यादा सफल कानूनों में गिना जाता है, जिसने लोगों की जिंदगी आसान बनाई है. बीते दिनों आरटीआई के तहत बड़ी-बड़ी इनफॉरमेशन और तमाम विभागों में घोटाले उजागर हुए तो जनता को कार्य करने में सहूलियत भी हुई और इसी आधार पर कार्यों की गति आगे बढ़ती चली गई.

आज के समय ऐसे लोग हैं जो तमाम सूचनाओं के लिए आरटीआई का इस्तेमाल बखूबी करना जानते हैं, किन्तु ऐसे लोगों की संख्या भी कम नहीं है जो किसी सरकारी डिपार्टमेंट में पब्लिक रिलेशन ऑफीसर के पास जाने का जोखिम नहीं लेना चाहते. अथवा इसके लिए उनके पास समयाभाव होता है. ऐसे तमाम व्यक्तियों के लिए आरटीआई के जरिए सूचना हासिल करना बहुत आसान हो गया है, वह भी ऑनलाइन. जी हाँ, इससे जुड़ी सरकारी वेबसाइट बेहद सॉलिड है और अक्सर यह आपको निराश नहीं करती है.

तो आइए जानते हैं कि आरटीआई इनफॉरमेशन लेने की ऑनलाइन प्रक्रिया क्या है

सबसे पहले आरटीआईऑनलाइन डॉट जीओवी डॉट इन (https://rtionline.gov.in/) पर लॉग इन करके आपको खुद को पंजीकृत (Register) करना होता है और फॉर्म में दी गई जानकारियों को भरना होता है. इस लिंक पर जाकर आप खुद को रजिस्टर कर सकते हैं: https://rtionline.gov.in/registration.php
RTI Registration Form
इसी तरीके से रजिस्टर और मेल कन्फर्मेशन करने के बाद आपको लॉगिन करना होता है और जब आप कोई आरटीआई सबमिट करना चाहेंगे, तो पहली अपील को सबमिट करते समय आपको गाइडलाइंस पढ़नी/ समझनी होती है. इसमें तमाम नियम दिए गए होते हैं जिसे आप नीचे के स्क्रीनशॉट पर भी इन नियमों को पढ़ सकते हैं समझ सकते हैं या फिर इस लिंक पर जाकर अध्ययन कर सकते हैं: https://rtionline.gov.in/guidelines.php?request



इसके बाद आप ऑनलाइन आरटीआई रिक्वेस्ट फॉर्म को भर सकते हैं. इसमें ध्यान रहे कि इसके कॉलमों को, खासकर Text for RTI Request application के कॉलम को भरने में विशेष सावधानी बरतें और लंबा अप्लीकेशन यहाँ टाइप करने की बजाय अपनी मेल पर टाइप करके यहाँ पेस्ट करें. यह इसलिए, ताकि अगर पेज रिफ्रेश हो जाए, तो आपके द्वारा टाइप की गयी इनफार्मेशन गायब न हो जाए.
इसके बाद आपसे पेमेंट मांगी जाएगी, जिसके लिए आपको क्रेडिट/ डेबिट कार्ड या नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करना होगा.


इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन नंबर मिल जायेगा, साथ ही सम्बंधित डिपार्टमेंट की कांटेक्ट डिटेल्स भी.
आगे आप इसे ट्रैक करते रहिये.

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें... Use Any Keyword for More than 1000 Hindi Articles !!)

Disclaimer: इस पोर्टल / ब्लॉग में मिथिलेश के अपने निजी विचार हैं, जिन्हें तथ्यात्मक ढंग से व्यक्त किया गया है. इसके लिए विभिन्न स्थानों पर होने वाली चर्चा, समाज से प्राप्त अनुभव, प्रिंट मीडिया, इन्टरनेट पर उपलब्ध कंटेंट, तस्वीरों की सहायता ली गयी है. यदि कहीं त्रुटि रह गयी हो, कुछ आपत्तिजनक हो, कॉपीराइट का उल्लंघन हो तो हमें लिखित रूप में सूचित करें, ताकि तथ्यों पर संशोधन हेतु पुनर्विचार किया जा सके. मिथिलेश के प्रत्येक लेख के नीचे 'कमेंट बॉक्स' में आपके द्वारा दी गयी 'प्रतिक्रिया' लेखों की क्वालिटी और बेहतर बनाएगी, ऐसा हमें विश्वास है.
इस लेख से जुड़े सर्वाधिकार इस वेबसाइट के संचालक मिथिलेश के पास सुरक्षित हैं. इस लेख के किसी भी हिस्से को लिखित पूर्वानुमति के बिना प्रकाशित नहीं किया जा सकता. इस लेख या उसके किसी हिस्से को उद्धृत किए जाने पर लेख का लिंक और वेबसाइट का पूरा सन्दर्भ (www.mithilesh2020.com) अवश्य दिया जाए, अन्यथा कड़ी कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.

No comments

Powered by Blogger.