बच्चों का 'मनी मैनेजमेंट' (Money Management and Children) सीखना क्यों जरूरी है?

हमारा YouTube चैनल सब्सक्राइब करें और करेंट अफेयर्स, हिस्ट्री, कल्चर, मिथॉलजी की नयी वीडियोज देखें.

कहते हैं कि बचपन में जो आदत पड़ जाती है वह ताउम्र बनी रहती है. इसीलिए तमाम अच्छी आदतों को बचपन में ही सिखाने पर जोर दिया जाता है. चूंकि वर्तमान समय में अर्थ सर्वाधिक महत्वपूर्ण हो गया है, लेकिन विडंबना यह है कि हम इसे शुरू से बच्चों को सिखाना जरूरी नहीं समझते हैं!
पर यह आवश्यक है और इसके लिए आपको निश्चित रूप से इनिशिएटिव लेना चाहिए.

इसके लिए आपको कोई रॉकेट साइंस जानने की आवश्यकता नहीं है, बल्कि तमाम छोटी-छोटी बातों को प्रत्येक दिन कम्युनिकेशन करके अपने बच्चों को डिलीवर करने की आदत बनानी है और फिर आप धीरे-धीरे बच्चों को पहले थियोरेटिकल और उसके बाद प्रैक्टिकल रूप से मनी मैनेजमेंट सिखला सकते हैं.
Why is it important for children to learn 'Money Management'?

अगर उदाहरण दें तो आप उनको खरीददारी के बारे में बतला सकते हैं और कुछ पैसे देकर मार्केट से सब्जी खरीदने को कह सकते हैं या दूसरी जरूरी चीजें मंगवा सकते हैं. इसी प्रकार आप अपने साथ बच्चे को मार्केट ले जा सकते हैं और कुछ चीजें उसे भी खरीदने को कह सकते हैं, ताकि आपका बच्चा खरीददारी करना सीख जाए.
घर आने पर उसके द्वारा लिए गए स्टेप्स की व्याख्या कर सकते हैं, परंतु ध्यान रहे बच्चों का मन अति कोमल होता है और सिखाते समय आप उसके दोस्त की तरह बिहेव करें ना कि केवल सख्त पैरंट्स की तरह डांटे ही!
हाँ!

अक्सर बच्चे जिद्दी होते हैं और इसका कारण यह होता है कि हम उनकी बातों को सुनने-समझने से पहले ही अनदेखा कर देते हैं. यहाँ अभिप्राय यह नहीं है कि आप उसकी हर जिद्द को मान ही लें, बल्कि उसकी बातों को समझ कर तब उसे समझायें, एक बार और बार-बार, बिना धैर्य खोये!

इसी क्रम में अगर आगे बात करें तो बच्चों को मनी मैनेजमेंट सिखाने के लिए आप उन्हें बैंकिंग प्रणालियों की जानकारी दे सकते हैं. तमाम ऐसे मोबाइल एप्लीकेशन (Eg. Savings Spree, Renegade Buggies, Bankaroo, FamZoo Family Finance etc. Mobile Apps for Money Education for Children) भी मौजूद हैं. इनसे आपका बच्चा मनी मैनेजमेंट के बेसिक्स को सीखने का प्रयत्न कर सकता है.

यह भी ध्यान रखिए कि अपने बच्चों को पैसे की कीमत भी बताएं. आप हर बार उन्हें बनी-बनाई चीजें ना परोसें, अन्यथा वह सर्कस के शेर बन जाएंगे. अगर आप अपने बच्चों को कोई रिवार्ड देना भी चाहते हैं, तो उसके लिए टास्क सेट करें. 
वह टास्क पढ़ाई से संबंधित हो सकता है, खेल से संबंधित हो सकता है या फिर घरेलू कार्यों से संबंधित भी हो सकता है. उसके बाद ही बच्चों को कोई रिवार्ड दें या फिर उनकी जेब खर्च में बढ़ोतरी करें. निश्चित रूप से इसके लिए गोल सेट करना बेहद आवश्यक है.

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि बच्चों में पैसे की सेविंग करने की आदत भी विकसित करनी होती है. आपका बच्चा जेब खर्च किस तरह से इस्तेमाल करता है, इस पर नजर रखें और सप्ताह में या फिर महीने में एक दो बार आप उससे इस संबंध में मित्रवत ढंग से बात करें ताकि उस पैसे की वैल्यू को भी आपका बच्चा समझे.

Web Title: Why is it important for children to learn 'Money Management'? | Learning from Initial, Personal Finance

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें... Use Any Keyword for More than 1000 Hindi Articles !!)

Disclaimer: इस पोर्टल / ब्लॉग में मिथिलेश के अपने निजी विचार हैं, जिन्हें तथ्यात्मक ढंग से व्यक्त किया गया है. इसके लिए विभिन्न स्थानों पर होने वाली चर्चा, समाज से प्राप्त अनुभव, प्रिंट मीडिया, इन्टरनेट पर उपलब्ध कंटेंट, तस्वीरों की सहायता ली गयी है. यदि कहीं त्रुटि रह गयी हो, कुछ आपत्तिजनक हो, कॉपीराइट का उल्लंघन हो तो हमें लिखित रूप में सूचित करें, ताकि तथ्यों पर संशोधन हेतु पुनर्विचार किया जा सके. मिथिलेश के प्रत्येक लेख के नीचे 'कमेंट बॉक्स' में आपके द्वारा दी गयी 'प्रतिक्रिया' लेखों की क्वालिटी और बेहतर बनाएगी, ऐसा हमें विश्वास है.
इस लेख से जुड़े सर्वाधिकार इस वेबसाइट के संचालक मिथिलेश के पास सुरक्षित हैं. इस लेख के किसी भी हिस्से को लिखित पूर्वानुमति के बिना प्रकाशित नहीं किया जा सकता. इस लेख या उसके किसी हिस्से को उद्धृत किए जाने पर लेख का लिंक और वेबसाइट का पूरा सन्दर्भ (www.mithilesh2020.com) अवश्य दिया जाए, अन्यथा कड़ी कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.

No comments

Powered by Blogger.