दूसरे के सर पर पैर रखकर आगे बढ़ने की आदत! Kangna Ranaut, Adhyayan Suman Controversy, Hindi Article, Bollywood Fight

यूं तो यह आदत आजकल हर क्षेत्र में देखी जा रही है कि किस प्रकार दूसरे को पीछे धकेलकर लोग आगे बढ़ना चाहते हैं, किन्तु हमारी फिल्म इंडस्ट्री में ऐसे तमाम उदाहरण देखने को मिलते हैं और चूंकि फ़िल्मी ख़बरों का एक बड़ा पाठक वर्ग है तो जाहिर है इसकी चर्चा भी खूब होती है. बॉलीवुड में एक दूसरे पर छींटाकसी करना और किसी न किसी का आपसी विवाद की ख़बरें आम बात है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से लगातार चर्चा में बना कंगना- ऋतिक विवाद में नया मोड़ तब आ गया जब जाने-माने हास्य अभिनेता शेखर सुमन के बेटे, जोकि बॉलीवुड में अपना भाग्य आजमा चुके हैं और जिनका नाम कंगना के पूर्व प्रेमी के तौर पर भी लिया जाता है, ने कंगना रनौत के खिलाफ मीडिया में अपना बयान जारी कर दिया. मौके का फायदा उठाते हुए अध्ययन ने कहा कि कंगना न सिर्फ़ अजीबोगरीब स्वभाव की हैं, बल्कि वो अपने पार्टनर का उत्पीड़न भी करती हैं. और तो और, सीमोलंघन करते हुए अध्ययन ने इस तरफ इशारा भी कर दिया कि कंगना ने उन पर जादू-टोना किया और अपना ख़ून भी पिलाया! अब जायज तो यह बात है कि लोग अध्ययन से पूछते कि भई! तुम्हारे साथ अगर कंगना ने अत्याचार किया तो अब तक तुम चुप क्यों थे? क्या तुम कंगना का ऋतिक से विवाद होने का इंतजार कर रहे थे? हो सकता है कि कंगना अध्ययन के रिलेशन्स में समस्या रही हो, किन्तु अध्ययन की 'टाइमिंग' से जाहिर है, यह एक पब्लिसिटी स्टंट भर ही था! हालाँकि, इसके बाद फिल्म और मीडिया जगत में खलबली मच गयी. सारे टीवी चैनलों पर यही खबर छाई हुयी थी. पत्रकार इस बयान के बाद कंगना के बाईट का बेसब्री से इंतजार करने लगे और कंगना ने भी उन्हें निराश नहीं किया. 

नेशनल अवॉर्ड के तुरंत बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कंगना ने अपने अंदाज में अध्ययन के दावे के जवाब में कहा कि "जब एक औरत एक आदमी से ज़्यादा सफल हो जाती है तो फिर वो उसे बदनाम करने लगते हैं लेकिन मैं अपनी सफलता और मेहनत से ही लोगों को जवाब दूंगी." कंगना ने अपने बयान में यह भी जोड़ा कि 'कुछ लोग ज़िन्दगी में सफल नहीं हो पाते हैं और उसका बदला दूसरों को नुक्सान पहुंचाकर लेना चाहते हैं.'  कंगना के टीवी पर दिए गए इस बयान के बाद सोशल मीडिया और टीवी-अखबारों में उनके लिए सहानुभूति की लहर चल पड़ी और सालों से फिल्मों तथा मीडिया से दूर अध्ययन को  निशाने पर लोग लेने लगे! जैसा कि सब ने सुना कि अध्ययन कंगना के साथ रिश्ते में रह चुके हैं और बतौर अध्ययन उनका रिश्ता काफी दुखदायी था. लेकिन एक बात समझ में नहीं आती कि अध्ययन कि ऐसी क्या मज़बूरी थी जो कंगना के द्वारा इतनी प्रताड़ना सहते रहे, जबकि उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि इतनी मजबूत है. उनके पिता बॉलीवुड के जाने-माने नाम हैं. खैर जो भी हुआ लेकिन इस हादसे के सालों बाद ऐसा क्या हुआ कि उन्हें अपना दर्द याद आ गया और मीडिया में बयान देना जरुरी लगा. या ऐसा कहा जाये कि कंगना-ऋतिक के विवाद का फायदा उठा के बहती गंगा में हाथ धोने का प्रयास किया गया. अगर सच में अध्ययन को कंगना से परेशानी थी तो उन्हें अपनी लड़ाई अलग से लड़नी चाहिए न कि इस तरीके से! यहाँ स्पष्ट करना जरूरी है कि कंगना को यहाँ कोई सर्टिफिकेट नहीं दिया जा रहा, लेकिन सभ्य समाज में किसी औरत के ऊपर गैंग बनाके के हमला करना कहीं से उचित नहीं माना जाता है. अब चाहे शेखर सुमन लाख दलीलें दें, लेकिन उनके बेटे द्वारा उठाया कदम किसी भी एंगल से सही नहीं माना जा सकता. पर इन सबसे बड़ा सवाल यही उपजता है कि दूसरे के कंधे पर सवार होकर सफलता के रास्ते पर चलने की सोच कितनी उचित है? हालाँकि, पहले भी बॉलीवुड में गलाकाट प्रतियोगिता की बात सामने आयी है, लेकिन कंगना, ऋतिक और अध्ययन के 'कॉकटेल' ने इसी कहीं और निचले स्तर पर पहुंचा दिया है, इस बात में दो राय नहीं!

Kangna Ranaut, Adhyayan Suman Controversy, Hindi Article, Bollywood Fight,
Adhyayan Suman,अध्ययन सुमन,Shekhar Suman,शेखर सुमन,bollywood,बॉलीवुड, हृतिक रौशन,कंगना रनौत,विद्या बालन,बालीवुड,कंगना के पक्ष में विद्या,Hritik Roshan,kangna ranaut,vidhya balan,women rights, mahila adhikar, relations, social culture, film industry hindi article

No comments

Powered by Blogger.