राम से बड़ा राम का नाम, अतः बहुत कुछ रखा है नाम में! New Baby Name, Hindi Article, Know the importance of Name, Ram se bada Ram ka Naam, Hindi Essay, Indian Culture


महान नाटककार, कवि, लेखक के तौर पर ख्याति अर्जित करने वाले शेक्सपियर का यह कथन काफी चर्चित है कि "व्हाट्स इन द नेम"! यानि 'नाम में क्या रखा है'? यह बात दावे के साथ कही जा सकती है की अंग्रेजी के मूर्धन्य साहित्यकार विलियम शेक्सपियर की इस उक्ति का काफी हद तक गलत इंटरप्रिटेशन किया गया है. उनका अभिप्राय शायद इस बात से ज्यादा रहा होगा कि केवल नाम 'हीराचंद' रख लेने से आप हीरे के व्यापारी नहीं बन जाते, बल्कि इस हेतु आप को आवश्यक कार्य भी करना पड़ता है. पर उनकी इस उक्ति का यह अभिप्राय कदापि नहीं रहा होगा कि आप के नाम की अहमियत ही नहीं है! अगर वाकई ऐसा होता तो फिर क्यों कहा जाता 'राम से बड़ा राम का नाम'! भारतीय संस्कृति को इस कथन में छोड़कर भी विवेचना करें तो इंटरनेट पर आपको तमाम ऐसी वेबसाइटें मिल जाएंगी जिसका इस्तेमाल लोग-बाग अपने बच्चों के नामकरण के लिए करते हैं, आधुनिकतम भारतीय से लेकर ब्रिटिशर्स तक और अमेरिकन से लेकर चाइनीस तक, दूसरे भी! भारतीय संस्कृति में तो खैर नामों की बड़ी महिमा रही ही है. 'राम से बड़ा राम का नाम' विद्वान द्वारा सर्वसम्मत मन्त्र माना गया है, तो हमारे यहां नामकरण का बकायदे संस्कार भी इस हेतु होता है. पूरे विधि-विधान से किसी बच्चे का नामकरण किया जाता है. हालाँकि, आज कल नए ज़माने के माँ-बाप अपने बच्चों का नाम आधुनिक उच्चारण की दृष्टि से कुछ इस प्रकार रखना चाहते हैं जिसका अच्छा प्रभाव सुनने वाले पर पड़े! पर कई बार नाम में अर्थ का अनर्थ भी हो जाता है. हमारी समृद्ध लोक-संस्कृति में बच्चे के नाम का असर उसके जीवन पर पड़ने की संभावना बनी रहती है, तो नाम को लेकर तमाम मुहावरे एवं लोकोक्तियां कही सुनी जाती रही हैं, जो 'नाम' की महत्ता को आप ही व्याख्यायित करती हैं. जैसे 'आँख का अंधा नाम नयनसुख' में नाम और कर्म का साम्य नहीं होने की ओर इंगित किया गया है, तो 'नाम बड़े और दर्शन खोटे' में भी कमोबेश यही भाव है. इसी अर्थ में 'नाम से हाजी वैसे पाजी' को भी गिनाया जा सकता है. इसी तरह एक अन्य मुहावरे 'चलती का नाम गाड़ी' में शेक्सपियर के कथन का ही बोध होता है, तो 'यथा नाम तथा गुण' भी उतना ही प्रचलित मुहावरा है जिसमें 'नाम के अनुसार गुण का होना' बताया गया है. New Baby Name, Hindi Article, Know the importance of Name, Ram se bada Ram ka Naam, Hindi Essay, Indian Culture, Fanatism meaning in Hindi

New Baby Name, Hindi Article, Know the importance of Name, Only for the Publicity of something else?
इसी कड़ी में दुनिया से नाम उठ जाना, धन की अपेक्षा सुनाम अच्छा, मजबूरी का नाम महात्मा गांधी, नाम उजागर करना, नाम की माला जपना, नाम निशान मिट जाना, नाम रोशन होना, नाम को बट्टा लगाना, बद अच्छा बदनाम बुरा इत्यादि को भी गिनाया जा सकता है, जिससे 'नाम' शब्द की महिमा आप ही सत्यापित हो जाती है. ऐसा देखा गया है कि किसी नवजात का 'ऐरा-गैरा नत्थू खैरा' नाम रख देने पर उसके बाद के दिनों के लिए बड़ी मुसीबत हो जाती है, खासकर आधुनिक ज़माने में! मैं ऐसे कई लोगों को जानता हूँ, जिनके बच्चों ने बड़े होने पर ज़िद्द करके अपना नाम परिवर्तित कराया है. वैसे, हमारे यहां अक्सर बच्चों के दो या कई बार अधिक नाम ही रख दिए जाते हैं. एक विधिवत नामकरण संस्कार से और घर के वरिष्ठ जनों, पंडितों की सलाह से तो दूसरा पुकार से उसका नाम पड़ जाता है. जैसे पप्पू, गप्पू, चिंटू, पिंटू इत्यादि. कई बार यही नाम आपके असली नाम पर भी भारी पड़ जाते हैं और परिवार, समाज में आप इसी नाम से पहचाने जाने लगते हैं. मैं कई ऐसे दोस्तों को भी जानता हूं जिनके स्कूल में भी उनके असली नाम की जगह पुकार का नाम ही लिख दिया गया है और वह मजबूरन अपना नाम शार्ट करके बताते हैं, जैसे जी.एस. ठाकुर! कोई उनके नाम की फुल फॉर्म पूछ लेता है तो पहले तो टालने की कोशिश करते हैं और अगर बात नहीं टलती है तो मजबूरन बताते हैं 'घसीटा राम ठाकुर'! शार्ट नाम बताने वाले ऐसे कई वाकये आपको मिल जायेंगे. जाहिर सी बात है कि 30 - 35 साल या अधिक की उम्र हो जाने के बाद जब उन्हें कोई पप्पू, गब्बू या घसीटा कह कर संबोधित करता है तो फिर उनके पास नाम 'शार्ट' करने के आलावा विकल्प ही क्या बचता है! इसके अलावा यह भी माना जाता है कि जैसा पुकार का नाम होता है, कमोबेश उसका असर भी उस पर अवश्य ही पड़ता है. कई बार तो पुकार के नाम आदमी के बिहेवियर पर ही गढ़े जाते हैं, जैसे पप्पू को ही ले लीजिये! आजकल बड़ा चर्चित नाम है और कांग्रेस के युवराज को, वस्तुतः काबिल युवराज को बड़ा सोच समझकर यह उपनाम जनता ने दिया है. उनका नाम 'पप्पू' क्यों पड़ा, यह कोई बताने का विषय नहीं है! सामान्य जीवन में भी ऐसे ही उपनाम और उसका असर देखने को मिलता है तो इसके विपरीत यदि किसी बच्चे का नाम शास्त्र सम्मत या कुछ ऐतिहासिक चरित्रों के नाम पर होता है तो उसका सकारात्मक असर भी पड़ता है. कहते हैं अजामिल नामक वेश्या के पुत्र का नाम नारायण था. जीवन भर तमाम पाप करने के बाद बाद जब अजामिल की मौत की घड़ी सामने आई थी तब उसने अपने बेटे नारायण को आवाज लगाई थी. कहते हैं, भगवान विष्णु उसकी आवाज सुनकर दौड़े आए और अंततः उसे मोक्ष की प्राप्ति हुई. इतिहास बहुत बड़ा सबक होता है हमारे लिए. हम सबके लिए रावण, दुर्योधन, कुंभकरण, कंस इत्यादि ऐसे चरित्र रहे हैं जिनके नाम पर कोई अपने बच्चे का नामकरण आज भी नहीं करना चाहता है. इसी तरह मध्ययुगीन कट्टरता और नरसंहार के लिए कुख्यात रहे कुछ नामों को रखने से परहेज किया जाता है जैसे तैमूरलंग, चंगेज खान, बाबर, औरंगजेब इत्यादि. इनके जीवन की शुरुआत से अंत तक हिंसा का ही बोलबाला रहा है, जिसे किसी भी तरह जायज नहीं ठहराया जा सकता. New Baby Name, Hindi Article, Know the importance of Name, Ram se bada Ram ka Naam, Hindi Essay, Indian Culture, Fanatism meaning in Hindi

New Baby Name, Hindi Article, Know the importance of Name, Ram se bada Ram ka Naam, Hindi Essay, Indian Culture, Cruel Emperors in History like Timur, Changez Khan, Babar and Aurangzeb
निर्दोष नागरिकों, औरतों, बुजुर्गों और बच्चों का गला काटते हुए उनकी तलवारों ने जरा सा भी विराम नहीं लिया और इतिहास की किताब ऐसे बर्बर शासकों से भरी हुई है. आखिर ऐसे बर्बर और अत्याचारी आक्रांताओं के नाम पर कोई अपने बच्चों का नाम भला क्यों रखना चाहेगा. खुद मुस्लिम समुदाय के लोग ऐसे नामों से परहेज करते हैं, खासकर भारत में तो निश्चित ही! पर ऐसा अजीब 'नामकरण' हुआ है और बहुत संभव है कि पूरा मामला पब्लिसिटी पाने की मंशा से ही स्पांसर किया गया हो! जी हां, चर्चित बॉलीवुड जोड़ी करीना कपूर और सैफ अली खान ने अपने नवजात का नाम 'तैमूर अली खान' रखा है, जिस पर सोशल मीडिया में खूब नकारात्मक चर्चा हुई है. किसी तारीक पीरज़ादा ने इस बारे में ट्वीट किया है कि 'सैफ अली का अपने बेटे का नाम "तैमूर' रखा जाना कुछ ऐसा ही है, जैसे कोई यूरोपियन अपने बेटे का नाम "हिटलर" रखे'! कइयों ने सोशल मीडिया पर करीना कपूर के दादाजी को उद्धृत करते हुए तुकबंदी की है कि-
शर्मिंदा हैं स्वर्ग में, पृथ्वी'राज' कपूर पोती करीना ने जना, अली खान तैमूर!


हालांकि कई लोग इसे अरबी भाषा का बढ़िया अर्थ वाला शब्द बता रहे हैं जिसका अर्थ होता है शेर या लोहा! किंतु, हमारे भारत में छोटे क्लास की इतिहास की किताबों में भी तैमूरलंग की बर्बरता का स्पष्ट जिक्र किया जाता रहा है. यदि सिर्फ शब्द और अर्थ की ही बात हो तो रावण का अर्थ भी संस्कृत सम्मत बताया जाता है, तो क्या लोगों को अपने बच्चों का नाम रावण रख देना चाहिए? वैसे, तैमूरलंग एक मामूली चोर था, जो मध्य एशिया के मैदानों और पहाड़ियों से भेड़ों की चोरी किया करता था. 15वीं शताब्दी के सीरियाई इतिहासकार इब्ने अरब शाह के मुताबिक एक भेड़ चराने वाले चरवाहा ने भेड़ चुराते हुए तैमूरलंग को अपने तीर से घायल कर दिया था. चरवाहे का एक तीर तैमूर के कंधे पर लगा था और दूसरा तीर कूल्हे पर. सीरियाई इतिहासकार ने साफ़ तौर पर लिखा है कि, “पूरी तरह से घायल होने से तैमूरलंग की गरीबी बढ़ गई. उसकी दुष्टता भी बढ़ी और रोष भी बढ़ता गया, जिसके शिकार लाखों लाख मासूम बने.”  जानकारी के अनुसार, तैमूर लंग भारतीय इतिहास का वो विलेन है, जिसने दिसंबर 1398 में भारत के कई शहरों को बर्बाद करते हुए, लूटते हुए दिल्ली पर कब्जा किया और करीब तीन सप्ताह से अधिक दिनों तक दिल्ली को लूटता रहा. इस दौरान करीब एक लाख हिंदुओं को उसने कत्ल कर दिया था. उस वक्त दिल्ली पर मोहम्मद तुगलक के वंशज नासिरुद्दीन महमूद तुगलक का शासन था, जो बहुत कमजोर था. तैमूर से जंग के बीच में नासिरुद्दीन डरकर गुजरात भाग गया था. दिल्ली में लाखों मासूमों का क़त्ल करने के बाद तैमूर मेरठ की तरफ बढ़ा और नौ जनवरी को मेरठ शहर में कत्लेआम मचाया, फिर हरिद्वार, जम्मू और फिर कांगड़ा की ओर बढ़ता गया, शहर वीरान होते गए, पीछे छोड़ता गया तैमूर लाशें और जलते मकान. दिलचस्प यह भी है कि दिसंबर में तैमूर के हमले के आस पास ही सैफ ने जन्मे अपने बेटे का नामकरण भी किया है? क्या वाकई वह, लाखों मासूमों के क़त्ल की भारतीय जनमानस को याद दिलाते रहना चाहते हैं? क्या वाकई सैफ अली खान और करीना कपूर को इस ऐतिहासिक चरित्र के बारे में पता नहीं रहा होगा? उनके आस-पास के शुभचिंतकों में से भी किसी को इस बात का इल्म नहीं रहा होगा, ऐसा मानना नादानी होगी. हां, यह बात जरूर मानी जा सकती है कि पब्लिसिटी पाने की मंशा से जो लोग नंगे-पुंगे होने से भी परहेज नहीं कर सकते हैं, वह अपने नवजात को भी प्रचार की खातिर दांव पर लगा दें तो भला क्या अचरज! New Baby Name, Hindi Article, Know the importance of Name, Ram se bada Ram ka Naam, Hindi Essay, Indian Culture, Fanatism meaning in Hindi

New Baby Name, Hindi Article, Know the importance of Name, Ram se bada Ram ka Naam, Hindi Essay, Indian Culture, Be careful while naming your baby boy or Girl, Hindi Essay
देखा जाए तो हिंदू मुस्लिम की इस शादी में लव-जिहाद पर भी काफी चर्चा हुई थी और हिंदू महासभा जैसे संगठनों ने इस पर खूब हो-हल्ला किया था. एक बार फिर अपने बच्चे का नाम तैमूरलंग जैसे राक्षस के नाम पर रखकर कट्टरवादियों को इस जोड़ी ने उकसाने का ही कार्य किया है. उससे भी बड़ी बात यह है कि जब वह बच्चा बड़ा होगा तो क्या वाकई वह इस ऐतिहासिक चरित्र के बारे में नहीं जानना चाहेगा? यदि कभी वह अपने नाम का अर्थ गूगल  में ढूंढे और उसे पता चलेगा कि तैमूरलंग कौन था और उसने वाकई में क्या किया था, तो क्या उस बच्चे में हीनभावना नहीं आएगी? अथवा उसमें कट्टरता का बीज नहीं पड़ेगा? यदि यह सब भी नहीं हुआ तो तैमूरलंग के बारे में पढ़ने सुनने वाली भारतीय जनता उसे कितने सहज ढंग से ले पाएगी? क्या सच में यही वह 'गंगा जमुनी' तहजीब है, जिसका ज़िक्र तमाम सेक्युलरिस्ट अपने लेखकीय स्तंभों में करते रहते हैं? कई प्रश्न अनुत्तरित हैं, हालांकि कहने वाले यह भी कह रहे हैं कि यह सैफ अली खान और करीना कपूर का आपसी मामला है और उनकी निजी जिंदगी पर कमेंट क्यों किया जाना चाहिए? ऐसे लोगों को यह समझना चाहिए कि अगर सैफ करीना की जोड़ी और उनके बच्चे का नामकरण करना है इतना ही निजी था तो उन्हें प्रेस रिलीज जारी करने की जरूरत क्यों पड़ी? और अगर उन्होंने ऐसा किया तो उस पर लोगों की प्रतिक्रिया आना स्वाभाविक ही है. एक सेलिब्रिटी से लाखों लोग प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष ढंग से प्रभावित होते हैं और उन्हें अपना व्यवहार ऐसा तो रखना ही चाहिए, जिससे गलत लोगों का कृत्य महिमामंडित ना हो! इतिहास में कई ऐसे बर्बर शासक हुए हैं हिंदू भी मुस्लिम भी, किंतु तैमूर लंग, बाबर, चंगेज खान और औरंगजेब जैसों की ऐतिहासिक कैटेगरी औरों से भिन्न इसलिए रही है, क्योंकि अन्य शासकों जैसे सम्राट अशोक, सम्राट अकबर का जीवन काल युद्ध और बर्बरता के साथ जनता के हित से भी जुड़ा रहा है. सम्राट अशोक ने एक भीषण युद्ध के बाद बौद्ध धर्म का प्रचार-प्रसार करना शुरु कर दिया था और विश्व को शांति का सन्देश ही दिया, तो अकबर भी जनता से जुड़ने की रणनीति पर कमोबेश कार्य करते रहे! तैमूर जैसे लोग तो शुरू और आखिर तक सिर्फ और सिर्फ मारकाट ही मचाते रहे. चोरों-लुटेरों की सेना के दम पर उन्होंने आम जनमानस को भयाक्रांत करने के सिवा और कुछ न किया. New Baby Name, Hindi Article, Know the importance of Name, Ram se bada Ram ka Naam, Hindi Essay, Indian Culture, Fanatism meaning in Hindi

दुर्गुणों की ओर बहक जाना मानव का स्वभाव रहा है, वह चाहे आम इंसान हो या खास ही क्यों न हो, किंतु दुर्गुणों के मुंह में आजीवन बैठे रहने का कार्य शैतान का ही है! उसे इंसान की संज्ञा नहीं दी जा सकती है और तैमूर उन्हीं शैतानों का एक ऐतिहासिक नाम है जिसने अपने नाम को सदा-सदा के लिए कलंकित किया है. सैफ-करीना जैसे लोगों ने तैमूर नाम का महिमामंडन करके लोगों के सामने एक गंदी नजीर पेश की है, जिसे किसी भी कीमत पर जायज नहीं ठहराया जा सकता. कहने को तो यह उनका व्यक्तिगत मामला है, किंतु तमाम निर्दोषों के खून का दाग जिस नाम की तलवार पर लगा हुआ हो, उस नाम को हिकारत और नफरत की दृष्टि से ही देखा जा सकता है, प्यार और संवेदना की दृष्टि से नहीं! उस नवजात का कोई सीधा दोष तो नहीं है, किन्तु पब्लिसिटी की भूख में मरे जा रहे इस बालीवुड जोड़ी के सर पर यह दोष मढ़ा ही जाना चाहिए, ताकि आगे से गलत लोगों के नामों को अपनाने की परंपरा ज़ोर न पकड़े! अगर ऐसा हुआ तो कल को कोई भी अपने बच्चे का नाम 'ओसामा बिन लादेन, या आईएसआईएस के बगदादी' के नाम पर रखना शुरू कर देगा! जाहिर तौर पर प्रचारित लोगों द्वारा इस तरह के कुकृत्यों से समाज का नुक्सान ही होगा, तो कट्टरता, आतंक का महिमामंडन!

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




New Baby Name, Hindi Article, Importance of Name, Ram, Ram ka Naam, Hindi Essay, Indian Culture, Example of Fanatism in Hindi, bigotry, intransigence, inveteracy, zealotry in Hindi, Bollywood, Entertainment, Saif Ali Khan, Kareena Kapoor, Kapoor Family, Bad Facts, History, Timur in Delhi, Why Taimoor Ali Khan? Reality of Pataudi Family, Publicity is Dangerous many times, new baby name, bay names 2017, new baby name starting with a, b, c, d, e, f, g, h, i, j, k, l, m, n, o, p, q, r, s, t, u, v, w, x, y, z, new bay name boy, new baby name hindu, muslim, new baby name in Hindi, new baby names girl, new baby name 2016 islamic, christian baby names 2017, sikkh baby names
मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें... (More than 1000 Hindi Articles !!)

Disclaimer: इस पोर्टल / ब्लॉग में मिथिलेश के अपने निजी विचार हैं, जिन्हें पूरे होश-ओ-हवास में तथ्यात्मक ढंग से व्यक्त किया गया है. इसके लिए विभिन्न स्थानों पर होने वाली चर्चा, समाज से प्राप्त अनुभव, प्रिंट मीडिया, इन्टरनेट पर उपलब्ध कंटेंट, तस्वीरों की सहायता ली गयी है. यदि कहीं त्रुटि रह गयी हो, कुछ आपत्तिजनक हो, कॉपीराइट का उल्लंघन हो तो हमें लिखित रूप में सूचित करें, ताकि तथ्यों पर संशोधन हेतु पुनर्विचार किया जा सके. मिथिलेश के प्रत्येक लेख के नीचे 'कमेंट बॉक्स' में आपके द्वारा दी गयी 'प्रतिक्रिया' लेखों की क्वालिटी और बेहतर बनाएगी, ऐसा हमें विश्वास है.

No comments

Powered by Blogger.