किडनी चोरी! बाप रे बाप... Kidney racket in Apollo hospital, Delhi, hindi article, Health and Doctors, Mithilesh

*लेख के लिए नीचे स्क्रॉल करें...


किसी व्यक्ति के लिए इस संसार का आधार उसका मानव शरीर ही तो है और आप कल्पना कर सकते हैं कि अगर उसके शरीर से कोई महत्वपूर्ण आर्गन ही चोरी कर लिया जाए तो उसकी क्या दशा होगी! जी हाँ, डॉक्टर्स जिन्हें भगवान कर दर्जा दिया जाता है और अस्पताल जिन्हें मंदिर कहा जाता है, वहीं से अगर इस तरह का अनैतिक, आपराधिक और घृणित कार्य होने लगे तो फिर समाज को सोचने पर विवश होना पड़ता है कि आखिर वह भरोसा करे भी तो किस पर करे? बचपन में हम लोग सुनते थे कि अमुक व्यक्ति शहर में कार्य करने गया था और वहां उसकी किडनी चोरी कर ली गयी तो समझ में नहीं आता था कि आखिर ऐसा क्यों और कैसे किया गया होगा, लेकिन अब ऐसे गिरोहों की सक्रियता, वह भी देश के नामी गिरामी अस्पतालों में देखकर समझ आ जाता है कि धन के लिए पर और बाहुबल के आधार पर ऐसे कार्यों को बखूबी अंजाम दिया जाता है. आये दिन कई अस्पतालों के बारे में कोई ना कोई विवाद सामने आता ही रहता है. अभी-अभी दिल्ली ही नहीं देश के जाने-माने अपोलो अस्पताल पर विवाद उठा है. अपोलो अस्पताल से संबंधित एक रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है. यह रैकेट किडनी चोरो का है, जो मरीजों की आपरेशनों के बहाने किडनियां चुराकर लाखों में बेच दिया करते हैं. इस गिरोह में बाकायदा 'बिजनेस-मॉडल' का इस्तेमाल किया गया है, जिसे देखकर कोई बड़ी से बड़ी कंपनी भी भौंचक्की हो सकती है. मिली जानकारी के अनुसार, यह एक ऐसा रैकेट है जो देश के कई राज्यों के साथ साथ विदेशों से भी ताल्लुक रखता है, मतलब जहाँ बढ़िया पैसा मिल जाए, वहां किडनियां बेच दो, बेशक नैतिकता और देश का कानून इसे मना करता हो! 

इसे भी पढ़िए: स्तन कैंसर में जागरूकता बेहद जरुरी! 


ऐसा नहीं है कि इस रैकेट में केवल धोखाधड़ी ही होती थी, बल्कि इससे जुड़े लोग भोले-भाले लोगों को बहला-फुसलाकर किडनी बेचने के लिए तैयार करते थे. उसके बाद दिल्ली के अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों और कर्मचारियों की मिली-भगत से उनकी किडनी निकाली जाती थी. किडनी के डोनर को सिर्फ 3 - 3.5 लाख देने के बाद किडनी लेने वालों से 20 - 30 लाख रूपये वसूले जाते थे. गौरतलब है कि इसके लिए दिल्ली पुलिस के शक के दायरे में नामी अस्पताल अपोलो के डॉक्टर भी है. राजधानी दिल्ली के इस आधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण अस्पताल में देश के नेता-अभिनेता के साथ साथ कई बड़ी हस्तियां यहाँ इलाज करवाना अधिक पसंद करती हैं. गौर करने वाली बात यह भी है कि अपोलो हॉस्पिटल के ठीक सामने सरिता विहार थाना और साउथ ईस्ट ज़िले के डीसीपी ऑफिस हैं, लेकिन किसी को कानों-कान भी खबर नहीं हुई कि यहाँ इतने बड़े स्तर पर किडनी बेचने का काम चल रहा है. अनुमान लगाया जा रहा है कि यह रैकेट किडनी से देश और विदेशों में करोड़ों रुपए का कारोबार कर चुका है. हालाँकि, यह तो अभी एक मामला सामने आया है, लेकिन अगर सच में इसकी खोजबीन पूरे देश में सघनता से की जाए तो इसके कई मामले सामने आ सकते हैं, जो न केवल डॉक्टरी के पेशे को बदनाम करने वाले होंगे, बल्कि काली कमाई का बड़ा श्रोत भी साबित होंगे! यह भी बेहद दिलचस्प है कि इस रैकेट का पर्दाफाश एक दंपति के झगडे को सुलझाने में हुआ. सरिता विहार थाने में अपने आपसी लड़ाई की शिकायत करने आये इन जोड़ों के बीच पैसे को लेकर लड़ाई हुई थी, जो किडनी के धंधे वाले रैकेट से मिला था. पुलिस जब उनकी आपसी सुलह करने के लिए उनसे बात करने लगी,  तभी उनको इस रैकेट की भनक लग गई. इस मामले में अभी तक छह मुलाजिम गिरफ्तार हो चुके हैं, लेकिन इस बात में कोई शक नहीं है कि यह सिर्फ मोहरे भर हैं और इन गिरोहों का सरदार कहीं सफेदपोशों के बीच मजे लूट रहा होगा! वैसे धंधे का मुख्य सरगना राजकुमार राव फरार बताया जा रहा है, लेकिन ऐसा मुमकिन नहीं कि बिना बड़े हाथ के यह धंधा, वह भी अपोलो जैसे हॉस्पिटल में चल रहा हो! खैर, यह जांच का विषय है और इस रैकेट के इसी पहलू को खंगालने के लिए पुलिस दिल्ली के अलावा कोलकाता, चेन्नई और कोयंबटूर में भी सक्रिय हो गई है.

इसे भी पढ़िए: वृद्धआश्रम नहीं है हमारी संस्कृति का हिस्सा, किन्तु...

इस गोरखधंधे को बेहद सटीक ढंग से चलाया जा रहा था. इसमें फ़र्ज़ी कागजी कार्यवाही में अस्पताल के कर्मचारी भी साथ देते थे जिसमें 'डोनर को रिसीवर' का रिश्तेदार बताया जाता था. उसके बाद सिर्फ 10-15 दिन में सारा काम पूरा हो जाता था. इसमें सबसे दिलचस्प बात तो यह है कि इसके लिए काम कर रहे लोगों को एक-एक लाख रूपये और डोनर को 3 से 4 लाख रूपये दिए जाते है, जबकि किडनी के रिसीवर से 20 से 25 लाख वसूले जाते हैं. ऐसे में यदि रिसीवर विदेशी हुआ तो रकम इससे भी ज्यादा होती है. जाहिर है इसके पीछे किसी बड़ी शख्सियत का हाथ होना अवश्यम्भावी है, तो इसी अस्पताल का कोई डॉक्टर इनसे जुड़ा होना ही चाहिए. पुलिस ने अपोलो अस्पताल प्रबंधन को भी सवालों की एक लंबी सूची सौंपी हैं, लेकिन अस्पताल का तंत्र इतना मजबूत है कि शायद ही उसका बाल बांका हो! वैसे भी, अपोलो अस्पताल की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि "पुलिस ने अस्पताल से एक किडनी रैकेट को लेकर मुलाकात की और असपताल ने पुलिस को सहयोग किया. अस्पताल ने यह भी कहा कि उनके यहां जो भी किडनी ट्रांसप्लांट होती है, वो सभी जरुरी डाक्यूमेंट के साथ ही की जाती है. जाहिर है अस्पताल तो कानूनी प्रकिया की दुहाई देगा ही और कहेगा ही कि उन्हें इस घटना की जानकारी नहीं थी, पर जगह-जगह पर लगे सीसीटीवी कैमरे और उनका हाई प्रोफाइल स्टाफ क्या घास छीलने के लिए है? यह बात अलग है कि पकड़े गए दोनों पीएस अपोलो के स्टॉफ नहीं है बल्कि डॉक्टरों के पीएस हैं, लेकिन यही क्या काम बड़ा सबूत है? 

इसे भी पढ़िए: कमजोर है स्वास्थ्य सेवाओं की बुनियाद

देखा जाय तो ऑर्गन डोनेशन के लिए जो सरकारी कानून (ह्यूमन आर्गन ट्रांसप्लांट एक्ट 1994) बनाए गए हैं, उसमें बेहद साफ़ तौर पर कहा गया है कि डोनर और रिसीवर के बीच खून का रिश्ता होना चाहिए और इसके लिए एक खास कमेटी  के साथ साथ डॉक्टर्स की उपस्थिति भी अनिवार्य है. हर अस्पताल में किडनी डोनेशन के लिए बाकायदा एक असेस्मेंट कमेटी मौजूद होती है, तो किडनी ट्रांसप्लाट प्रकिया की वीडियोग्राफी कराना भी अनिवार्य है. जाहिर है, अपोलो जैसे बड़े अस्पताल में जब इन नियमों को धत्ता बता दिया गया तो फिर बाकी छोटे बड़े अस्पतालों की क्या हालत होगी, इसकी सहज ही कल्पना की जा सकती है. इतने कड़े कानून होने के बावजूद भी यह सब बड़ी आसानी से हो रहा है तो फिर प्रशासन पर भी शक की सूई घूम ही जाती है. आखिर, कुछ रूपयों का लालच देकर धनबल के आधार पर देश के गरीबों के साथ खिलवाड़ किया जाए तो यह लोकतंत्र के नाम पर शर्मनाक बात ही है. यह भी ध्यान देने वाली बात है कि मेडिकल क्षेत्र की कई जगहों पर नकली दवाइयां, ब्लड डोनेशन में हेरफेर भी बड़ी समस्याओं के रूप में सामने आये हैं. ऐसे में मनुष्य के अंगों की कालाबाजारी पर जितनी जल्दी और सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए, दूसरों के लिए यह उतनी ही सटीक नजीर होगी अन्यथा मामला ठन्डे बस्ते में भेजे जाने से यह गोरखधंधा रूक-रूक, छुप-छुप चलता ही रहेगा और सिसकता रहेगा हमारा लोकतंत्र! आखिर, किडनी चोरी और धोखाधड़ी का शिकार तो बिचारा वही होता है, या फिर किसी अमीर को भी इसका शिकार होते आपने सुना है?

- मिथिलेश कुमार सिंहनई दिल्ली.



यदि आपको मेरा लेख पसंद आया तो...

f - फेसबुक पर 'लाइक' करें !!
t - ट्विटर पर 'फॉलो'' करें !!





दिल्ली, अपोलो अस्पताल, किडनी रैकेट, डॉक्टर, पुलिस, जुर्म, Crime, Delhi, Delhi police, police, Apollo Hospital , Kidney Racket, Apollo Hospital Kidney Racket, pointer , International level, kidney deal, false paper work, Doner, receiver, Doner and receiver must be relative, complain in Sarita vihar police Station, prefer, disclosure kidney Racket, exposition, Revelation,racket unveilment, Delhi, Kolkata, Chainnai, democracy, poor people, rules, law, kanoon,
Kidney racket in Apollo hospital, Delhi, hindi article, Health and Doctors, Mithilesh,
Breaking news hindi articles, Latest News articles in Hindi, News articles on Indian Politics, Free social articles for magazines and Newspapers, Current affair hindi article, Narendra Modi par Hindi Lekh, Foreign Policy recent article, Hire a Hindi Writer, Unique content writer in Hindi, Delhi based Hindi Lekhak Patrakar, How to writer a Hindi Article, top article website, best hindi article blog, Indian blogging, Hindi Blog, Hindi website content, technical hindi content writer, Hindi author, Hindi Blogger, Top Blog in India, Hindi news portal articles, publish hindi article free,
योग' से विश्व हो 'निरोग'! International Day of Yoga
ashtanga hatha yoga, online free yoga classes, yoga at home free, yoga instructions for beginners, vinyasa, yoga vedios, online yoga instruction, what is bikram yoga good for, yoaga, yoga stream schedule, yoga workout videos online, yoga online free classes, online yoga classes best, free yoga workout videos, yoga subscription, best online yoga classes free, yoga magazines usa, online yoga shop, free yoga website, bikram yoga nearby, free yoga download for beginners, yoga classes free, hatha yoga vinyasa, yoga classes online for beginners, hatha ashtanga yoga, best yoga workout video, best yoga, yoga workout videos for beginners, yoga watch, yoga journal online, best at home yoga videos, ashtanga yoga classes, free yoga online classes, center for yoga, bikram yoga 105, yoga online uk, yog a, yoga clas, top rated yoga videos, yoga tv online, beginners yoga video free, yóga, yoga for beginners free, free online yoga workouts, instructional yoga video, yoga teacher website, bikram yoga studio locations, free yoga online video workouts, home yoga videos, joga journal, what's yoga, hatha yoga ashtanga, yoga classe, best free online yoga classes, yogalessen online, fitness yoga video, www yoga for you, yoga international online classes, yoga videos gratis, yoga onlin, yoga routines online, best free online yoga, yoga web, yoga classes free online, online yoga classes uk, yoga journal uk subscription, online yoga videos free, bikram yoga bikram yoga bikram yoga, beginner yoga videos free, yoga magazine online, gentle yoga class, free online yoga classes download, power yoga online free, video yoga class, yoda website, yoga streaming free, joga videos, yoga free classes, bikram yoga study, yoga poses for beginners video, journal yoga, learn yoga poses,
इसे भी पढ़ें: राजनीतिक पार्टियों को भी 'आरटीआई' में लाएं हमारे पीएम!
Best website design in KARAWAL NAGAR, Best website design in MUSTAFABAD, Best website design in GOKALPUR, Best website design in BABARPUR, Best website design in GHONDA, Best website design in SEELAMPUR, Best website design in ROHTAS NAGAR, Best website design in SEEMA PURI, Best website design in SHAHADARA, Best website design in GANDHI NAGAR, Best website design in KRISHNA NAGAR, Best website design in VISHWAS NAGAR, Best website design in LAXMI NAGAR, Best website design in PATPARGANJ, Best website design in KONDLI, Best website design in TRILOKPURI, Best website design in OKHLA, Best website design in BADARPUR, Best website design in TUGHLAKABAD, Best website design in KALKAJI, Best website design in GREATER KAILASH, Best website design in SANGAM VIHAR, Best website design in AMBEDKAR NAGAR, Best website design in DEOLI, Best website design in CHHATARPUR, Best website design in MEHRAULI, Best website design in R K PURAM, Best website design in MALVIYA NAGAR, Best website design in KASTURBA NAGAR, Best website design in JANGPURA, Best website design in NEW DELHI, Best website design in RAJENDRA NAGAR, Best website design in DELHI CANTT, Best website design in PALAM, Best website design in BIJWASAN, Best website design in NAJAFGARH, Best website design in MATIALA, Best website design in DWARKA, Best website design in UTTAM NAGAR, 
इसे भी पढ़िएब्राउजर्स के बादशाह गूगल 'क्रोम' को जानिए और नजदीक से!
Best website design in VIKASPURI, Best website design in JANAK PURI, Best website design in TILAK NAGAR, Best website design in HARI NAGAR, Best website design in RAJOURI GARDEN, Best website design in MADIPUR, Best website design in MOTI NAGAR, Best website design in PATEL NAGAR, Best website design in KAROL BAGH, Best website design in KAROL BAGH, Best website design in MATIA MAHAL, Best website design in CHANDNI CHOWK, Best website design in SADAR BAZAR, Best website design in MODEL TOWN, Best website design in WAZIRPUR, Best website design in TRI NAGAR, Best website design in SHAKUR BASTI, Best website design in SHALIMAR BAGH, Best website design in ROHINI, Best website design in MANGOL PURI, Best website design in NANGLOI JAT, Best website design in SULTANPUR MAJRA, Best website design in KIRARI, Best website design in MUNDKA, Best website design in BAWANA, Best website design in RITHALA, Best website design in BADLI, Best website design in ADARSH NAGAR, Best website design in TIMARPUR, Best website design in BURARI, Best website design in NERELA                  

मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें... ( More than 1000 Articles !!)

No comments

Powered by Blogger.