मियाँ नवाज, आपकी 'कश्मीरी-हसरत' पाकिस्तान को कई टुकड़ों में बाँट देगी... !! Jammu and Kashmir, Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan, Afghanistan, Hindi Article



मानव-स्वभाव भी बड़ा विचित्र है कि वह इतिहास को बड़ी जल्दी भुला देता है. अब पाकिस्तान को ही ले लीजिये, ठीक से 70 साल उसकी पैदाइश को नहीं हुई और वह अजीब-अजीब सपने देख कर खुद को बर्बाद करने पर तुला रहता है. पाकिस्तान के कुछ सपनों और उसके दुस्साहस पर नज़र डालें तो भारत के साथ वह चार लड़ाइयां लड़ चुका है और हर बार उसे मुंह की खानी पड़ी है. एक बार तो वह दो भागों में बंट (Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan) भी गया, जब उसका पूर्वी-पाकिस्तान बांग्लादेश के नाम से अलग राष्ट्र बन गया. उसके पहले दिल्ली में किसी पाकिस्तानी जनरल ने एंट्री लेने का मंसूबा पाला तो उसका लाहौर और इस्लामाबाद ही खतरे में पड़ गया. फिर आतंकवाद और कारगिल में मुंह की खाने के बाद आख़िर किस मुंह से उसके वर्तमान पीएम नवाज शरीफ, जिन्हें उनके मुल्क में नरेंद्र मोदी का दोस्त कहा जाता है, कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बनाने की बात कह देते हैं! मियां नवाज, कहे देते हैं कि 'इतिहास से कुछ सीख ले लो', नहीं ऐसा खतरनाक सपना आपके मुल्क को कई भागों में बाँट देगा. 

इसे भी पढ़ें: अमेरिका पाक सम्बन्ध एवं परमाणु अप्रसार


Jammu and Kashmir, Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan, Sushma Swaraj, Rajnath Singh, Hindi Article
वह तो हमारी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज थोड़ी नरम-दिल हैं, इसलिए उन्होंने इतना ही कहा कि 'पाकिस्तानी पीएम का कश्मीर के बारे में खतरनाक सपना क़यामत तक पूरा नहीं होगा'! पर इस नरम बयान का मतलब पाकिस्तानी हुक्मरानों को यह समझना चाहिए कि खुद उनके 'मुल्क का अस्तित्व' इससे खतरे में पड़ सकता है नहीं, बल्कि पड़ ही जायेगा! रही बात कश्मीर के हंगामे से पाकिस्तान के फायदा उठाने की तो इसकी चिंता उसे नहीं ही करनी चाहिए. इस सन्दर्भ में भारतीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का वह बयान गौर करने लायक है जिसमें वो भारत प्रशासित कश्मीर (Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan) का ज़िक्र करते हुए कह रहे हैं कि कश्मीर में किसी तीसरी ताकत की कोई भूमिका नहीं है, भारत कश्मीर के साथ भावनात्मक संबंध चाहता है. इसी समय जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी पाकिस्तान से कहा है कि हमारे युवकों को उकसाना बंद करो. महबूब यहीं नहीं रुकीं, उन्होंने पाकिस्तान को कड़े शब्दों में जबाब देते हुए कहा कि एक तरफ पाकिस्तान खुद को आतंकवाद से पीड़ित बतता है और दूसरी तरफ वो कश्मीरी युवाओं को बंदूक उठाने के लिए प्रेरित करता रहा है, ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. 

इसे भी पढ़ें: 'आउट ऑफ़ दी बॉक्स' पॉलिटिक्स या... 

Jammu and Kashmir, Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan, Mahbooba Mufti, CM, Hindi Article
जाहिर है, यह पाकिस्तान का ढोंग और दोगलापन ही है. वह अपने देश में बंदूक उठाने वाले बच्चों को सजा देता है लेकिन वहीं कश्मीर में युवाओं को बंदूक उठाने के लिए उकसा रहा है. देखा जाए तो महबूब मुफ़्ती का बयान बेहद सटीक है, जिसमें उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान खुद आतंकवाद का शिकार है, उनके स्कूल में सैकड़ों बच्चों को मार दिया गया, उनकी मस्जिदों में कोई नहीं जाता, लोगों को डर लगता है और जब कश्मीर में कोई युवा बंदूक उठाता है तो वो कहते हैं मेरा लीडर है और जब उनके यहां मदरसों के बच्चे बंदूक उठाते हैं तो उन्हें ड्रोन से मार दिया जाता है. सवाल वही है कि मियां नवाज (Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan) को खुद अपनी ही कुर्सी का पता नहीं कि वह कब देश से निर्वासित कर दिए जाएँ और बात करते हैं 'यह मुंह और मसूर के दाल की'! सवाल सिर्फ पाकिस्तान के कश्मीर पर पल रहे सपने की ही नहीं है, बल्कि उसका एक और बड़ा सपना है जिसे समूचा विश्व जान भी गया है. यह सपना पूरे विश्व में आतंकवाद फैलाने को लेकर है. अफगानिस्तान पर हुए हाल ही के आतंकी-हमलों के बाद वहां के राष्ट्रपति ने पाकिस्तान पर जिस तरह का बयान दिया है, उससे तो नवाज मियाँ को आत्महत्या कर लेनी चाहिए. 

इसे भी पढ़ें: समझौते के लायक नहीं पाकिस्तान

Jammu and Kashmir, Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan, Nawaj Shariff, Rahil Shariff
अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने आतंकवादियों को पनाहगार मुहैया कराने के लिए पाकिस्तान पर कड़ा प्रहार किया है और कहा है कि अल-कायदा और तालिबान जैसे आतंकवादी संगठनों से लड़ने के बजाए पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ संबंध बनाना सरकार के लिए 'बड़ी चुनौती' बन गई है. अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि काबुल भारत के साथ अपनी दोस्ती को लेकर गर्व महसूस करता है, क्योंकि नई दिल्ली अफगानिस्तान में लोकतंत्र (Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan) फैलाना चाहता है. अफगानी राष्ट्रपति ने साफ़-साफ़ कहा कि पाकिस्तान आतंकवादियों को पनाह देता है और उनको प्रशिक्षित करता है, जिससे पाक के साथ संबंध बनाना उनके देश के लिए बड़ी चुनौती बन गयी है. अब सवाल वही है मियां नवाज कि आपकी कौन-कौन सी हसरतें हैं और उन्हें किस-किस तरह पूरा करेंगे. इस कड़ी में तो यही कहा जा सकता है कि 'छटपटाइये और खूब छटपटाइये', किन्तु इतिहास की उपरोक्त बताई गयी सीख को न भूलियेगा, क्योंकि अगर आप भूले तो 'इतिहास अपने आप को दोहराएगा ही'! 

- मिथिलेश कुमार सिंहनई दिल्ली.

इसे भी पढ़ें: पागलों के हाथ 'परमाणु हथियार'



Jammu and Kashmir, Pakistan, Nawaj Sharif, History of East Pakistan, Afghanistan, Hindi Article, Narendra Modi, Ashraf Gani




ऑनलाइन खरीददारी से पहले किसी भी सामान की 'तुलना' जरूर करें 
(Type & Search any product) ...


Jammu and Kashmir, Pakistan, Nawaj Sharif, History, East Pakistan, Afghanistan, Hindi Article, editorial, foregin policy, terrorism,pakistan, kargil war, Bangladesh, Breaking news hindi articles, latest news articles in hindi, Indian Politics, articles for magazines and Newspapers, Hindi Lekh, Hire a Hindi Writer, content writer in Hindi, Hindi Lekhak Patrakar, How to write a Hindi Article, top article website, best hindi articles blog, Indian Hindi blogger, Hindi website, technical hindi writer, Hindi author, Top Blog in India, Hindi news portal articles, publish hindi article free

मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें...
(
More than 1000 Hindi Articles !!)

No comments

Powered by Blogger.