दहाई अंक में आ सकते हैं भारत के पास 'ओलिंपिक पदक'! Indian players in Rio Olympics 2016, Hindi Article, New, India medal chances, Sports



इतनी लंबी-चौड़ी आबादी वाले देशवासियों के लिए यह अजीब बात तो जरूर है, किन्तु तथ्य यही है कि पूरी बीसवीं सदी और इक्कीसवीं सदी के दूसरे दशक के मध्य तक हमारे खिलाड़ियों का एक सीजन में ओलंपिक पदक दहाई के आंकड़े तक भी नहीं पहुँच सका है. कभी ओलंपिक खेलों में तो हमने एक भी पदक प्राप्त नहीं किया है तो कई बार 1 कांस्य पदक भर से संतोष करके रह जाना पड़ा है. हालाँकि, 2012 में लन्दन ओलंपिक में जरूर हमारे पदकों की संख्या 6 पहुँच गयी थी. इसमें विजय कुमार (शूटिंग) और सुशील कुमार (पहलवानी) को सिल्वर पदक, जबकि गगन नारंग (शूटिंग), योगेश्वर दत्त (पहलवानी), साइना नेहवाल (बैडमिंटन) एवं मैरी कॉम (मुक्केबाजी) को ब्रॉन्ज़ मैडल मिला था (Hindi Article, New, India medal chances). 6 पदक प्राप्त करने के लिए ओलंपिक में सबसे बड़ा भारतीय दल भी गया था, जिसमें 60 पुरुषों एवं 23 महिलाओं को मिलाकर कुल 83 लोग शामिल थे. हालाँकि, इस बार 2016 के रियो ओलंपिक में इससे भी बड़ा दल भेजा गया है, जिसमें कुल 119 एथलिट शामिल हुए हैं. हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की खेलों के प्रति रुचि किसी से छिपी नहीं है और इस क्रम में उन्होंने व्यक्तिगत स्तर पर जानकारियां ली हैं, तो खिलाड़ियों का हौंसला भी बढ़ाया है. यहाँ तक कि बहुचर्चित 'नरसिंह यादव डोपिंग' प्रकरण में पीएम ने सीधा हस्तक्षेप करके सुनिश्चित किया कि किसी खिलाड़ी के साथ अन्याय न हो. बाद में डोपिंग रोधी संहिता की 10.4 धारा का लाभ उठाते हुए, डोपिंग आरोपों से बरी होने के बाद पहलवान नरसिंह यादव ओलंपिक जाने के लिए योग्य घोषित कर दिए गए हैं. 

इसे भी पढ़ें: ... तो क्या वाकई 'खेल-राजनीति' का शिकार हुए हैं 'नरसिंह यादव'!

Indian players in Rio Olympics 2016, Hindi Article, New, India medal chances, Sports, Prime Minister of India, Run for Rio
गौरतलब है कि राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) से नरसिंह को डोपिंग केस में क्लीन चिट मिल गयी और इस सम्बन्ध में नाडा का स्पष्ट कहना है कि इस खिलाड़ी के खिलाफ साजिश की गयी थी. यह मामला इसलिए भी तुल पकड़ गया था, क्योंकि इसके पहले ओलिंपिक में जाने के लिए नरसिंह को ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार के साथ कोर्ट का चक्कर भी लगाना पड़ा था. हालाँकि, अब यह एपिसोड गुजर गया है, और विश्व कुश्ती के संगठन ने भी नरसिंह को हरी झंडी दिखला दी है, पर रियो जाने के बाद भी नरसिंह से सम्बंधित राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) के दस्तावेजों की समीक्षा विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) करेगी, उसके बाद ही नरसिंह रिंग में उत्तर सकेंगे. उम्मीद की जानी चाहिए कि नरसिंह यादव ओलंपिक में उतरेंगे और न केवल उतरेंगे, बल्कि रिंग में प्रतिद्वंदियों को पटखनी देने में सफल भी रहेंगे (Indian players in Rio Olympics 2016, Hindi Article, New). भारत की तरफ से 74 किग्रा वर्ग की अगुआई करते हुए रिंग में उतरने के बाद नरसिंह का पूरा ध्यान मेडल पाने पर ही होगा और भारतवासियों को भी इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी से काफी उम्मीदें हैं. ज्ञातव्य हो कि इस बार भारत के सबसे बड़े 119 सदस्यीय दल में देश को 'स्वर्णिम' सफलता दिलाने वाले कई खिलाड़ी शामिल हैं. इसमें 2008 में ओलिंपिक गोल्ड मेडल जीतने वाले निशानेबाज अभिनव बिंद्रा की नजर सिर्फ और सिर्फ गोल्ड पर ही है और इसके लिए उन्होंने अपने घर पर ही रियो के सूटिंग जैसा 'प्रैक्टिस सेट' तैयार कराया था. 


इसे भी पढ़ें: कोच पद के लिए रवि शास्त्री का अनुचित प्रलाप!


Indian players in Rio Olympics 2016, Hindi Article, New, India medal chances, Sports, Team India
वहीं पहली भारतीय महिला जिमनास्ट दीपा करमाकर ने तो रियो जाने से पहले अपने आप को दिल्ली के इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम में कैद कर रखा था, जिसमें बाहरी दुनिया से कट कर वह ओलंपिक मैडल के लिए अपना सर्वस्व झोंक कर तैयारी में जुटी हुई थीं. दीपा करमाकर ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करके काफी सुर्खियां बटोरी थीं और अब वह मैडल जीतकर खुद पर हुई चर्चा को निश्चित तौर पर सार्थक करना चाहेंगी. इसी कड़ी में, द्रोणाचार्य अवार्डी महाबली सतपाल के शिष्य एवं 2012 के लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले पहलवान योगेश्वर दत्त भी 'गोल्ड-मैडल' के लिए पूरी ताकत झोंक देंगे और ऐसा करके वह देश के साथ-साथ अपने गुरु का नाम भी ऊँचा करना चाहेंगे. ऐसे ही, दुनिया की नंबर वन महिला बैडमिंटन खिलाड़ी (Indian players in Rio Olympics 2016, Hindi Article, New) एवं ओलंपिक पदक विजेता साइना नेहवाल और भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाडी पीपी सिंधु की नजर भी 'गोल्ड मेडल' पर ही टिकी रहने वाली है. अन्य चर्चित खिलाड़ियों की बात करें तो भारतीय महिला निशानेबाज अपूर्वी चंदेला, जीतू राय, ओलंपिक पदक विजेता गगन नारंग, टेनिस सनसनी सानिया मिर्ज़ा जैसे बड़े नामों पर पूरे देश की निगाहें जमी रहेंगी. इसके साथ-साथ रियो ओलंपिक में उस खेल को अनदेखा नहीं किया जा सकता, जिसमें भारत का इतिहास सबसे ज्यादा गौरवशाली रहा है. जी हाँ, हॉकी ने 1-2 नहीं बल्कि इंडिया को 8 ओलंपिक गोल्ड मेडल दिए हैं. हालाँकि, ओलंपिक गाँव में भारतीय हॉकी टीम को मिलने वाली सुविधाओं में कमी की बात कुछ रिपोर्ट में कही गयी है, किन्तु उम्मीद है कि यह टीम भारत की झोली में कम से कम एक मैडल तो डालेगी ही. 

इसे भी पढ़ें: भारतीय जिम्नास्टिक्स की नयी सनसनी दीपा कर्माकर

Indian players in Rio Olympics 2016, Hindi Article, New, India medal chances, Sports, Narsingh Yadav, Wrestler
इसी कड़ी में, भारत की ओर से सातवीं बार लिएंडर पेस ओलंपिक खेलों में हिस्सा ले रहे हैं और उन पर पदक जीतने का दबाव भी है. पेस पुरुषों के डबल्स में रोहन बोपन्ना के साथ भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे. पदक जीतने की उम्मीद और जिन खिलाड़ियों से है, उनमें विकास कृष्णन भी शामिल हैं, जो 75 किग्रा भार वर्ग के मुक्केबाजी में रियो ओलंपिक में हिस्सा लेंगे. गौरतलब है कि विकास कृष्णन ने साल 2011 में अज़रबैजान में हुई विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था और इसलिए उनसे एक मैडल की उम्मीद करना अतिशयोक्ति नहीं होगा. ऐसे ही, अज़रबैजान के बाकू में आईएसएसएफ विश्व कप प्रतियोगिता में 10 मीटर एयर पिस्टल में सिल्वर मेडल जीतकर जीतू राय की नज़र अब ओलंपिक पर है और वह भारत को मैडल देकर सरप्राइज कर सकते हैं. इन चर्चित खिलाड़ियों के अतिरिक्त भारतीय दल से और प्रतिभाएं भी चौंका सकती हैं और इसकी उम्मीद आम-ओ-खास सभी भारतीयों ने लगा रखी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय दल की रवानगी से पहले (Indian players in Rio Olympics 2016, Hindi Article, New) उनसे मुलाकात कर उन्हें अपनी शुभकामनाएं दी हैं और तनावरहित प्रदर्शन करने के प्रति प्रेरित किया है. देखना दिलचस्प होगा कि 5 से 21 अगस्त के बीच ब्राज़ील के रियो डि जेनेरियो शहर में आयोजित होने वाले इस खेल-महाकुम्भ में भारतीय खिलाड़ी अपने प्रदर्शन से 'मैडल-संख्या' को दहाई में पहुंचा पाते हैं अथवा नहीं. अगर ऐसा हुआ तो यह इतिहास रचने जैसा होगा. साथ ही साथ, उन खिलाड़ियों से अपने पदकों का रंग गहरा करने की उम्मीद भी है, जो पहले पदक जीत चुके हैं, तो सानिया मिर्ज़ा, लिएंडर पेस जैसे खिलाड़ियों का यह ओलंपिक आखिरी हो सकता है, इसलिए वह एड़ी से चोटी तक का ज़ोर लगाने वाले हैं. आखिर, ओलंपिक-पदक से बढ़कर किसी खिलाड़ी की उपलब्धि और क्या हो सकती है, तो दिल थाम कर बैठिये, क्योंकि खेल-महाकुम्भ बस शुरू ही होने वाला है और उसके साथ-साथ आपके दिल की धड़कनें भी 'जय हिन्द' के जयघोष से तेज होने वाली हैं.

- मिथिलेश कुमार सिंह, नई दिल्ली.




ऑनलाइन खरीददारी से पहले किसी भी सामान की 'तुलना' जरूर करें 
(Type & Search any product) ...


Archery Team: Atanu Das, Deepika Kumari, Laxmirani Majhi, Bombayla Dev
Atheletics Team: Inderjeet Singh (Shot Put), Vikas Gowda (Discus Throw), Seema Antil (Discus Throw), Manpreet Kaur (Shot Throw), Gurmeet Singh (men’s 20km walk), Baljinder Singh (men’s 20km walk), Irfan Kolothum Thodi (men’s 20km walk), Sandeep Kumar (men’s 50km walk), Manish Singh Rawat (men’s 50km walk), Nitender Singh Rawat (Marathon), Thonakal Gopi (Marathon), Kheta Ram (Marathon), Muhammad Anas (400m), Lalita Babar (3000m steeplechase), Tintu Luka (800m), Kavita Raut (Marathon), Sudha Singh (Marathon and 3000m steeplechase), OP Jaisha (Marathon), Khushbir Kaur (Walk), Sapna Punia (Walk), Dutee Chand (100m), Sarbani Nanda (200m), Ankit Sharma (Long jump), Nirmala Sheoran (400m)
Badminton Team: Saina Nehwal (Women’s singles), PV Sindhu (Women’s singles), Kidambi Srikanth (Men’s singles), Manu Attri and Sumeeth Reddy (Men’s Doubles), Jwala Gutta and Ashwini Ponnappa (Women’s doubles)
Boxing Team: Shiva Thapa (56kg), Manoj Kumar (61kg), Vikas Krishan (75kg)


इसे भी पढ़ें: आर्थिक कुप्रबंधन का बढ़ता चलन एवं राजपाल यादव को जेल!

Judo Team: Avtar Singh
Gymnastics Team: Dipa Karmakar
Rowing Team: Dattu Bhokanal (Singles sculls), 
Shooting Team: Jitu Rai, Apurvi Chandela, Gagan Narang, Abhinav Bindra, Gurpreet Singh, Prakash Nanjappa, Chain Singh, Mairaj Ahmed Khan, Heena Sidhu, Kynan Chenai, Ayonika Paul, Manavjit Singh Sandhu
Swimming Team: Sajan Prakash (men’s 200m butterfly), Shivani Katariya (women’s 200m freestyle)
Indian players in Rio Olympics 2016, Hindi Article, New, India medal chances, Sports, Olympic Medalists

Table Tennis Team: Achanta Sharath Kamal, Manika Batra, Soumyajit Ghosh, Mouma Das
Tennis Team: Rohan Bopanna (Men’s doubles, Mixed doubles), Leander Paes (Men’s doubles), Sania Mirza (Women’s doubles, Mixed doubles), Prarthana Thombare (Women’s doubles)
Weightlifting Team: Sivalingam Sathish Kumar (Men’s 77kg), Saikhom Mirabai Chanu
Wrestling Team: Narsingh Pancham Yadav (Men’s FS 74kg), Yogeshwar Dutt (Men’s FS 65kg), Hardeep Singh (Men’s GR 98kg), Sandeep Tomar (Men’s FS 57kg), Ravinder Khatri (Men’s GR 86kg), Vinesh Phogat (Women’s 48kg), Sakshi Malik (Women’s 60kg), Babita Kumari (Women’s 55kg)
and Indian Hockey team (Men’s team – 16 members | Women’s team – 16 members)
मिथिलेश  के अन्य लेखों को यहाँ 'सर्च' करें...
(
More than 1000 Hindi Articles !!)


loading...

No comments

Powered by Blogger.