खेल अब मनोरंजन बन गया है, जबकि... Olympic games and players, goodwill ambassador, hindi article, salman khan

 
आप किसी भी खिलाड़ी से इस लेख के 'टाइटल' का ज़िक्र करके देख लीजिए और वह घूंसे मारकर आपकी नाक तोड़ देगा. इसकी वजह भी कोई छुपी हुई नहीं है, बल्कि खिलाड़ी खेल को मनोरंजन की तरह नहीं, बल्कि युद्ध की तरह लेते हैं. देखा जाय तो, खिलाडियों के लिए खेल किसी युद्ध की तरह ही होता है, जहाँ जान लगा दी जाती है तो कई बार जान जाती भी है, किन्तु लोग तो इसे मनोरंजन का एक साधन ही मानते हैं. ऐसे में, आज के समय में जिस खेल में जितना तड़का है, जितना मनोरंजन है, जितने सितारे हैं वह खेल उतना ही लोकप्रिय है, इस बात में दो राय नहीं! अगर आप क्रिकेट का ही उदाहरण ले लें तो आप देख सकते हैं कि तमाम फ़िल्मी सितारों से लेकर, चीयर गर्ल्स और कॉर्पोरेट दिग्गज वहां मौजूद रहते हैं और उनके प्रभाव से लोगबाग भी क्रिकेट देखने जाते हैं. यह ट्रेंड दुसरे खेलों में कम दिखता है, खासकर भारत के सन्दर्भ में और नतीजा उनकी न्यून लोकप्रियता के रूप में सामने दिखता है. ऐसे में अगर भारतीय ओलम्पिक संघ ने सलमान खान जैसे सितारों को 'रियो ओलम्पिक' के लिए ब्रांड अम्बेस्डर नियुक्त कर ही दिया तो इसको लोकप्रियता बढ़ाने की दृष्टि से भी देखा जाना चाहिए, हालाँकि यह बात उतनी सीधी नहीं है, जितनी दिख रही है. प्रभावशाली हस्तियां किस तरह लाइमलाइट की चोरी करती हैं और किस तरह दूसरों को उभरने नहीं देती हैं, इस बात के कई उदाहरण हैं और जो खिलाड़ी अपना जीवन, ओलम्पिक जैसे स्थानों पर जाने के लिए दांव पर लगा देते हैं, वह आखिर किस प्रकार अपने स्थान को दुसरे के हक़ में जाने दे सकते हैं. जहाँ तक खेल प्रमोट करने की ही बात है तो इसे अन्य अवसरों पर भी किया जा सकता था, भारत में किसी प्रतियोगिता में सहभागी बनकर इसे प्रमोट किया जा सकता था, किन्तु ऐसा नहीं किया गया. ऐसे में, सवाल तो उठेंगे ही और उठने भी चाहिए. अगर वास्तव में किसी बड़े सितारे का ब्रांड अम्बैसडर बनना आवश्यक ही था, तो भारतीय ओलम्पिक संघ को 'संयुक्त ब्रांड अम्बैसडर' बनाने के विकल्प का चुनाव करना चाहिए था. इसमें संयुक्त रूप से एक दो खिलाड़ी भी अगर शामिल कर लिए जाते तो शायद यह विवाद ही न होता, किन्तु कौन समझाए खेल अधिकारियों को, जिन्हें खिलाडियों के अधिकारों की समझ ही नहीं है. 

भारत में अगर हम खेलों की बात करें तो राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सिर्फ और सिर्फ क्रिकेट को ही लोग ज्यादा जानते हैं और पसंद भी करते है. ग्राउंड पर अगर बात की जाए तो, भारत के राष्ट्रीय खेल हॉकी को भी बहुत कम ही लोग जानते है. यदि इस खेल में किसी को लोग पहचानते हैं तो केवल कैप्टन या एकाध खिलाडियों को ही, वह भी बेहद सीमित स्तर पर. सिर्फ हॉकी ही क्यों, भारत में क्रिकेट को छोड़कर अन्य दुसरे खेलों के साथ ऐसा ही बर्ताव होता है. यदि किसी को किसी प्रतियोगिता में गोल्ड या दूसरा मैडल मिला तो मीडिया में न्यूज़ जरूर बन गयी और उसके बाद फिर सब 'फुस्स'! हाल ही में ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई करने वाली दीपा जैसी जिम्नास्ट को ओलम्पिक क्वालीफाई करने से पहले शायद ही कोई जानता होगा. ऐसी परिस्थितियों में जब इन खिलाडियों का दिन आता है, अगर उस समय भी उन्हें न पूछा जाय तो 'योद्धा खिलाडियों' का खून तो उबाल मारेगा ही. इसी क्रम में, यह बात भी दावे के साथ कही जा सकती है कि एक दो लोगों को छोड़ दें, तो पीटी उषा, मिल्खा सिंह, अभिनव बिंद्रा जैसे अनेक खिलाड़ियों के बारे में लोग जनरल नॉलेज की किताबो में ही पढ़ते हैं. वही क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, धोनी इत्यादि की बात करें तो उन्हें हिंदुस्तान का एक छोटा बच्चा भी जानता है. जाहिर हैं, अब सवाल और जवाब दोनों ही मनोरंजन का हैं. ऐसे में, योद्धा खिलाडियों को भी अपने नजरिये में थोड़ी तब्दीली लानी चाहिए, क्योंकि कई बार 'कामयाबी और काबिलियत' के बीच फासले थोड़े बढ़ जाते हैं. साफ़ है कि बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान का रियो ओलिंपिक 2016 का गुडविल एम्बैसडर के चुने पर हंगामा होना ही हैं, किन्तु यह हंगामा सही-गलत से ज्यादा हालात के ऊपर निर्भर है. जब इस बात की घोषणा हुई तब वहां मौजूद कई खिलाड़ियों ने इस बात का समर्थन भी किया है. वहां 2012 के ओलिंपिक में ब्रॉन्ज़ मैडल जीतने वालीं एमसी मैरीकॉम, पुरुष हॉकी टीम के कप्तान सरदार सिंह, महिला हॉकी टीम की  कप्तान, दीपिका कुमारी, अपूर्वी चंदेला और मोनिका बत्रा आदि उपस्थित थे. हालाँकि, खेल जगत में यह पहली बार ही हुआ है कि इसके लिए कुछ खिलाड़ियों ने खुलकर आलोचना भी की है. कई तो यह आरोप लगाने से नहीं चूके है कि सलमान ख़ान अपनी आने वाली फिल्म 'सुलतान' के प्रोमोशन के लिए भारतीय दल के गुडविल एंबैसडर बने हैं. हालाँकि, ऐसी बातें पूरी तरह सही नहीं हैं, किन्तु इन सभी परिस्थितियों के लिए सलमान खान की बजाय, क्यों नहीं भारतीय ओलम्पिक संघ को जिम्मेदार ठहराया जाय! 

इस मामले पर गुडविल एंबैसडर बनने के बाद सलमान ख़ान ने सफाई देते हुए कहा कि "मेरा रोल एक धक्का गाड़ी की तरह एक ज़ोर लगाने का है. उम्मीद करता हूं कि खिलाड़ियों को इससे फ़ायदा होगा. ये नहीं जानता कि इससे कामयाबी मिलेगी या नहीं, लेकिन मेरी कोशिश ज़रूर रहेगी कि मैं उनमें जोश भर सकूं". जाहिर तौर पर सलमान खान, अपनी ओर से सफाई पर सफाई दे रहे हैं, लेकिन विवाद भी कुछ कम नहीं हो रहा है. इसी क्रम में, भारतीय हॉकी कप्तान सरदार सिंह का कहना है की "सलमान के फ़ैन्स की बहुत लम्बी लाइन हैं. उनके इन खेलों के जुड़ने से सलमान के फ़ैन्स भारतीय खेलों को भी फ़ॉलो करेंगे और जिससे भारतीय खेलों को भी ज़रूर फ़ायदा होगा". इसी क्रम में, 2012 में लंदन ओलिंपिक में ब्रॉन्ज़ मेडल विजेता रह चुके पहलवान योगेश्वर दत्त को सलमान का 'गुडविल एंबेसडर' बनना पसंद नहीं आया जिसके लिए उन्होंने आलोचना भी की और कहा की "पीटी उषा, मिल्खा सिंह जैसे बड़े स्पोर्ट्स स्टार हैं भारत में, जिन्होंने कठिन समय में देश के लिए मेहनत की थी! पहलवान योगेश्वर दत्त  के बाद फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह ने भी इस पर नाराजगी जताई. इसी कड़ी में, गौतम गंभीर का गुस्सा भी दिखा और उन्होंने कहा कि "देश में खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं है, अगर अभिनव बिंद्रा को गुडविल एबेंसडर बनाया जाता तो मुझे ज्यादा अच्छा लगता". इन तमाम विरोधों के बाद आलोचनाओं से खीझ कर सलमान खान के पिता सलीम खान ने सलमान के भारतीय ओलिंपिक दल के सद्भावना दूत बनने को सही ठहराते हुए कहा कि "सलमान खान ने भले ही प्रतियोगिताओं में हिस्सा नहीं लिया हो, लेकिन वह 'ए' श्रेणी का तैराक, साइकिलिस्ट और भारोत्तोलक है". सलीम खान ने मिल्खा सिंह का नाम लेते हुए कहा कि "मिल्खा जी यह बॉलीवुड नहीं है, यह भारतीय फिल्म इंडस्ट्री है और वह भी दुनिया में सबसे बड़ी है. यह वही इंडस्ट्री है जिसने आपको गुमनामी में जाने से बचाया." जाहिर तौर पर सलीम खान भी भावनाओं में बह गए और उन्हें थोड़ा संयम रखते हुए मिल्खा सिंह जैसे योद्धाओं के मनोभावों को पकड़ना चाहिए था. मिल्खा सिंह को सलीम खान की आलोचना नागवार ही गुजरी और उन्होंने तत्काल कहा कि 'बॉलीवुड ने उनपर फिल्म बनाकर कोई अहसान नहीं किया, बल्कि उन्होंने ही अपनी कहानी मात्र 1 रूपये में दी थी'! जाहिर है इस विवाद का कोई अंत नहीं है और इस विवाद को उत्पन्न कराकर भारतीय ओलम्पिक संघ के अधिकारी अवश्य ही मुस्करा रहे होंगे कि चलो, किसी बहाने ही सही, 'भारतीय ओलम्पिक संघ' का नाम तो लिया गया. हाँ, इससे बेशक किसी की भावनाओं को चोट पहुंचे या खिलाडियों का 'योद्धा होने का भ्रम' ही क्यों न टूटे! चूंकि अब खेल पूरी तरह मनोरंजन की जकड़ में आ गया है, इसलिए यह सब तो होना ही हैं.

Olympic games and players, goodwill ambassador, hindi article, salman khan.
भारतीय ओलंपिक संघ, आईओए, सलमान खान, रियो ओलंपिक, सद्भावना राजदूत, मैरीकॉम, goodwill ambassador, Rio Olympics, Salman Khan, IOA president, N Ramachandran, Indian Olympic Association, सलमान खान, सलमान खान रियो ओलिंपिक, गुडविल एंबेसडर, मिल्खा सिंह, योगेश्वर दत्त, Yogeshwar Dutt, Salman Khan, Salman khan Rio olympic, Milkha Singh, सलीम खान, सद्भावना दूत, हेमा मालिनी,  ओलंपिक संघ, आईओए, Hema Malini, Salim Khan, IOA, Rio Olympics Ambassador, क्रिकेट, गौतम गंभीर, Gautam Gambhir, Sports person, rio olympic 2016, Goodwill Ambassador, Cricket, London Olympics, sardar Singh, Indian Hockey Team, Rio Olympics, Sultan, Bollywood, Bollywood Actor, , entertainment, manoranjan, hidni article, player, khiladi

33 comments:

  1. पहलवान योगेश्वर दत्त ने भारतीय ओलम्पिक संघ से एंबैसडर का काम पूछा था ? भारतीय ओलम्पिक संघ ने यदि संघ की पब्लिसिटी के लिए यह कदम उठाया है जो थोड़ा बहुत ही सफल होगा क्योकि योगेश्वर दत्त , मिल्खा सिंह और गौतम गम्भीर की आलोचनाएं इसको कुछ हद तक कम कर सकती है .

    ReplyDelete
  2. पहलवान योगेश्वर दत्त ने भारतीय ओलम्पिक संघ से एंबैसडर का काम पूछा था ? भारतीय ओलम्पिक संघ ने यदि संघ की पब्लिसिटी के लिए यह कदम उठाया है जो थोड़ा बहुत ही सफल होगा क्योकि योगेश्वर दत्त , मिल्खा सिंह और गौतम गम्भीर की आलोचनाएं इसको कुछ हद तक कम कर सकती है .

    ReplyDelete
  3. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  4. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  5. There's no denying that video games have become an integral part of the millennial life. This is probably because they allow the gamer to lead Netball Court alternate life, full of adventure and challenges. Gaming is a truly global industry today- a $60 billion one.

    ReplyDelete
  6. One thing which never seems to die down will be the hype created by online games. Many might think that the fever of online games has died down, but they couldn't have been more wrong. In fact, online games are most popular today in comparison to what they were Pokemon Colosseum few decades ago.

    ReplyDelete
  7. Olympic games ke bare mein bahut acha likha apne.Aise hi bollywood update jane Bollywood Hindi News par.

    ReplyDelete
  8. My experience with both card and board games has changed as I've aged. As a child, I played Gin Rummy, 500 Rummy and Monopoly. In college, I learned to play Bridge which was freepsncodesnow.net lot more challenging. When my children were small, I played Old Maid and simple board games. As a senior citizen, I play them all, but always with different friends or family members. And each game at each age has been different but (almost) always enjoyable.

    ReplyDelete
  9. The highly anticipated Call of Duty Ghosts is one of the most talked get redirected here video games on the net. Here you can get a brief idea of what we know so far, and what to expect from the game come November 2013.

    ReplyDelete
  10. In this article you will read about the best games which can be played on high quality gaming laptops. Give West Virginia Sportsbooks time to this post and increase your knowledge related to the best games and quality gaming laptops.

    ReplyDelete
  11. Please keep on posting such quality storys as this is a rare thing to find these days. I am always searching online for posts that can help me. watching forward to another great website. Good luck to the author! all the best! Gaming Hack

    ReplyDelete
  12. Adding Workplace Games, also called Gamification, to your business will both motivate and unite your business towards maximizing new opportunities. In an interview, Tom Kalil, (Deputy Director for Policy for the White House Office of Science and Technology) made the point that NASA's use of Gamification had a Return on Investment 5 to 10 times higher than the costs associated with the rewards that the download league of legends mobile generated. Gamification will motivate and unify your stakeholders in providng unique products and services that differentiate your business and identify new markets and opportunities.

    ReplyDelete
  13. One of the most important teaching tools the teacher has in the EFL-classroom is the teaching of a foreign language through games. This article tells you how to teach grammar using games with fun examples for you to try out with your ESL students. free switch games

    ReplyDelete
  14. Hmm is anyone else having problems with the images on this blog loading? I’m trying to figure out if its a problem on my end or if it’s the blog. Any responses would be greatly appreciated. Free games downloads

    ReplyDelete
  15. The developers have the option to write apps and games for Android in C, C++ or Java. But Java is the official language for developing games and apps for Google's mobile operating system. Google further recommends developers to write new Android applications and games in Java. Also, many developers find it easier to write mobile games in Java than other programming languages. https://spelhacks.info/clash-royale-hack-gratis-gems-generator/

    ReplyDelete
  16. A variety of cool games now are available for all ages, with features that remarkably make exciting adventures near to reality. The games promote realistic motion scenes due to their well-made graphics and designs. Run Subway Fun Race 3D Review

    ReplyDelete
  17. Playing Terran The RIGHT WAY During The Early Game Phase The first 5 minutes are critical for setting the foundation for the rest of the game. The right choices make certain options a breeze for late game (while others force you into a long drawn out slug fest). Your priority is to set up a high economic input base that is WELL DEFENDED with a highly product military production center and walled off entrances. Obviously as soon as the game starts put your SCVs on minerals but try to move 1-2 out of the cluster as you click a mineral so they start a little faster. Source website

    ReplyDelete
  18. Video games have unquestionably become more ambitious and impressive in recent years. When you look at the likes of The Last Of Us, it's impossible to overstate just how far video games have come since people were playing Pong forty-odd years ago. But for all the innovations within the medium, and for all the new fangled ideas and increasingly elaborate control schemes, there's something to be said for how much more straight forward things were in the games we played as kids. http://63.250.38.187/jurusqq/

    ReplyDelete
  19. However, despite the large number of sales and raving reviews for Modern Warfare 2, the pre-order info on Call of Duty Black Ops shows that it has surpassed its predecessor already with less than a week until its release. Why are gamers going crazy for this game? Isn't this "just another first person shooter"? Let's dive into its various features to see why:   call of duty warzone hack

    ReplyDelete
  20. A role-playing game (RPG) is a type of game where players assume the roles of imaginary characters in a scenario created by the game developer and vicariously experience the adventures of these characters. In role-playing games players often team up to generate narratives. Bandar Murahqq

    ReplyDelete
  21. I think this is among the most significant information for me. And i am glad reading your article. But wanna remark on some general things, The web site style is great, the articles is really great : D. Good job, cheers Domain Authority

    ReplyDelete
  22. Fantastic goods from you, man. I’ve understand your stuff previous to and you are just extremely wonderful. I actually like what you have acquired here, really like what you’re saying and the way in which you say it. You make it enjoyable and you still care for to keep it sensible. I can not wait to read far more from you. This is really a terrific web site. Domain Authority

    ReplyDelete
  23. Hi there, thanks for the awesome posting. I’m having troubles subscribing to your blogs feed. Thought I’d let you know https://maps.google.com/url?q=https://casinobonuspoker.com/

    ReplyDelete
  24. I do accept as true with all the ideas you have offered in your post. They are really convincing and can definitely work. Still, the posts are too quick for novices. May just you please prolong them a bit from next time? Thank you for the post. http://maps.google.de/url?q=https://futurehealthlife.com/

    ReplyDelete
  25. Business Resilience requires an new look at Disaster Recovery and Business Continuity that aligns the risk businesses face today due to Black Swan events with new strategies such as cloud technology. The risk businesses face to their operational readiness today doesn't come from the loss of their IT infrastructure but from the loss of critical staff during regionalized and local disruptive events. Only proactive preparation including planning, training and the design of a resilient facility will mitigate the risk businesses face today. http://www.google.co.zw/url?q=http://travelbudgetonline.com/

    ReplyDelete
  26. Thanks, I have recently been seeking for details about this topic for ages and yours is the best I’ve found so far. https://www.google.com.ph/url?q=https://smarttechguys.com

    ReplyDelete
  27. There is noticeably a lot of money comprehend this. I suppose you have made specific nice points in features also. https://www.google.dk/url?q=https://smarttechguys.com

    ReplyDelete
  28. Good ¡V I should certainly pronounce, impressed with your site. I had no trouble navigating through all the tabs and related info ended up being truly easy to do to access. I recently found what I hoped for before you know it in the least. Quite unusual. Is likely to appreciate it for those who add forums or something, site theme . a tones way for your customer to communicate. Nice task.. oranga tame

    ReplyDelete
  29. Thank you for making the trustworthy attempt to speak about this. I think very sturdy approximately it and would like to read more. If it’s OK, as you achieve extra intensive wisdom, would you mind including extra articles very similar to this one with additional information? It will be extraordinarily useful and helpful for me and my friends. Qredible

    ReplyDelete
  30. This would be the right weblog for everyone who is wishes to be made aware of this topic. You recognize a great deal of its almost tough to argue along (not too I really would want…HaHa). You actually put the latest spin on a topic thats been discussed for decades. Fantastic stuff, just fantastic! Qredible

    ReplyDelete
  31. Thanks for every other excellent post. The place else may just anyone get that kind of info in such an ideal manner of writing? I’ve a presentation subsequent week, and I am at the look for such information. Free Study

    ReplyDelete
  32. Whether you're at work or at college as a student, you have every right to get bored of your work occasionally. In case you're one of the victims of downtime, you can go ahead and spend some time gaming online to revive yourself and freshen up a bit. Offerings like Stick Games online are great solutions for everyone looking for some activity to while away time. เว็บนี้เลย

    ReplyDelete
  33. Despite the fact gambling houses were legalised in Venice in 1626 actual poker chips was not used for over two hundred years. Back in the 19th century and prior, poker players seemed to use any small valuable object imaginable. Early poker players sometimes used jagged gold pieces, gold nuggets, gold dust, or coins as well as "chips" primarily made of ivory, bone, wood, paper and a composition made from clay and shellac. 카지노사이트

    ReplyDelete

Powered by Blogger.